चौतरफा बिकवाली के दबाव में सेंसेक्स लुढ़का, निफ्टी भी फिसला

सोमवार, 11 फ़रवरी 2019 (17:11 IST)
मुंबई। अधिकतर विदेशी बाजारों से मिली सकारात्मक खबरों के बीच चौतरफा बिकवाली के दबाव में बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स सोमवार को 151.45 अंक लुढ़ककर 36,395.03 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 54.80 अंक की गिरावट के साथ 10,888.80 अंक पर बंद हुआ।

मजबूत वैश्विक संकेतों के दम पर सेंसेक्स बढ़त के साथ 36,585.50 अंक पर खुला। कारोबार के शुरुआती पहर में यह 36,588.41 अंक के दिवस के उच्चतम स्तर तक पहुंचने के बाद पूरे दिन दबाव में रहा। बीएसई के सभी 20 समूह के सूचकांक लुढ़क गए। निवेशक वैश्विक आर्थिक विकास की रफ्तार सुस्त पड़ने को लेकर आशंकित रहे तथा दिग्गज कंपनियों के तिमाही परिणाम भी उम्मीद से कमतर रहे।

इन सबके बीच सेंसेक्स 36,300.48 अंक के दिवस के निचले स्तर तक लुढ़क गया और अंतत: गत दिवस की तुलना में 0.41 प्रतिशत की गिरावट के साथ 36,395.03 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 14 कंपनियां हरे निशान में रहीं जबकि 15 लाल निशान में रहीं। बजाज ऑटो के शेयरों के भाव अपरिवर्तित रहे।

निफ्टी का ग्राफ सेंसेक्स के विपरीत रहा। यह गिरावट के साथ 10,930.90 अंक पर खुला और यही इसका दिवस का उच्चतम स्तर भी रहा। कारोबार के दौरान यह 10,857.10 अंक के दिवस के निचले स्तर से होता हुआ गत दिवस की तुलना में 0.50 की गिरावट के साथ 10,888.80 अंक पर बंद हुआ। निफ्टी की 50 में से 29 कंपनियां गिरावट में और 21 तेजी में रहीं।

दिग्गज कंपनियों की अपेक्षा छोटी और मझोली कंपनियों को अधिक बिकवाली झेलनी पड़ी। बीएसई का मिडकैप 1.47 प्रतिशत यानी 211.26 अंक की गिरावट के साथ 14,117.55 अंक पर और स्मॉलकैप 1.51 प्रतिशत यानी 206.28 अंक की गिरावट के साथ 13,450.47 अंक पर बंद हुआ।

बीएसई में कुल 2,712 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें से 63 प्रतिशत यानी 1,714 कंपनियां गिरावट में और 835 तेजी में रहीं, जबकि 163 कंपनियों के शेयरों की कीमतें अपरिवर्तित रहीं।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख वेलेंटाइन डे गिफ्ट, 899 रुपए में करें हवाई सफर