Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बिकवाली के दबाव में सेंसेक्‍स 81 अंक गिरा

webdunia
बुधवार, 10 नवंबर 2021 (17:25 IST)
मुंबई। दुनियाभर के प्रमुख शेयर बाजारों के मिश्रित रुझानों के बीच घरेलू स्तर पर लगातार दूसरे दिन बिकवाली का दबाव देखा गया, लेकिन शुरूआती भारी गिरावट को अंतिम सत्र में हुई लिवाली के बल पर काफी हद तक नियंत्रित करने के बावजूद शेयर बाजार लाल निशान में रहे।

बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 80.63 अंक गिरकर 60352.82 अंक पर और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 27.05 अंक उतरकर 18017.20 अंक पर रहा। बीएसई में शामिल अधिकांश समूह गिरावट में रहे जिसमें धातु सबसे अधिक 2.03 प्रतिशत और रियलटी 1.64 प्रतिशत नीचे उतर गया। इस दौरान टेलीकॉम 2.16 प्रतिशत, तेल एवं गैस 0.80 प्रतिशत, एनर्जी 0.93 प्रतिशत और टेक 0.01 प्रतिशत चढ़ गया।

शेयर बाजार में मझौली कंपनियों में अधिक बिकवाली देखी गई जबकि छोटी कंपनियां लगभग सपाट बंद होने में सफल रहीं। बीएसई का मिडकैप 0.50 प्रतिशत गिरकर 26388.03 अंक पर और स्मॉलकैप 0.01 प्रतिशत उतरकर 29317.63 अंक पर रहा।

बीएसई में कुल 3458 कंपनियों में कारोबार हुआ जिसमें से 1713 हरे निशान और 1597 लाल निशा में रहीं जबकि 148 में कोई बदलाव नहीं हुआ।  विदेशी बाजारों में मिलाजुला रुख देखा गया। ब्रिटेन का एफटीएसई 0.48 प्रतिशत, हांगकांग का हैंगसेंग 0.61 प्रतिशत चढ़ गया जबकि चीन का शंघाई कंपोजिट 0.41 प्रतिशत और जापान का निक्केइ 0.61 प्रतिशत उतर गया। जर्मनी के डैक्स में कोई बदलाव नहीं हुआ।

बीएसई का सेंसेक्स 188 अंकों की गिरावट लेकर 60295.26 अंक पर खुला। शुरूआती कारोबार में ही यह बिकवाली के दबाव में 60 हजार अंक के स्तर से नीचे 59967.45 अंक तक उतर गया। हालांकि दोपहर के बाद लिवाली शुरू हुई जिसके बल पर यह 60 हजार अंक के स्तर को पार करते हुए 60506.50 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा लेकिन अंत में फिर बिकवाली देखी गई जिससे यह लाल निशान में बंद हुआ।

अंत में पिछले सत्र के 60483.45 अंक की तुलना में 80.63 अंक अर्थात 0.13 प्रतिशत गिरकर 60352.82 अंक पर रहा। एनएसई का निफ्टी 71 अंकों की गिरावट लेकर 18 हजार अंक के स्तर से नीचे 17973.45 अंक पर खुला। बिकवाली के दबाव में यह 17915 अंत तक उतरा लेकिन लिवाली के बल पर यह 18061.25 अंक के उच्चतम स्तर तक चढ़ा।

अंत में यह पिछले सत्र के 18044.25 अंक की तुलना में 0.15 प्रतिशत अर्थात 27.05 अंक गिरकर 18017.20 अंक पर रहा। निफ्टी में शामिल 50 कंपनियों में से 27 गिरावट में और 22 बढ़त में रहीं जबकि एक में कोई बदलाव नहीं हुआ।

सेंसेक्स में गिरावट में रहने वाली प्रमुख कंपनियों में इंड्सइंड बैंक 3.21 प्रतिशत, टाटा स्टील 2.77 प्रतिशत, हिन्दुस्तान यूनिलीवर 1.31 प्रतिशत, एशियन पेंट्स 1.11 प्रतिशत, टाइटन 1.07 प्रतिशत, स्टेट बैंक 1.04 प्रतिशत, पावरग्रिड 0.99 प्रतिशत, एचडीएफसी बैंक 0.97 प्रतिशत,कोटक बैंक 0.96 प्रतिशत, मारूति 0.92 प्रतिशत, आईसीआईसीआई बैंक 0.72 प्रतिशत, अल्ट्राटेक सीमेंट 0.65 प्रतिशत, एनटीपीसी 0.58 प्रतिशत, टीसीएस 0.56 प्रतिशत, बजाज ऑटो 0.51 प्रतिशत, एचसीएलटेक 0.27 प्रतिशत और बजाज फाइनेंस 0.16 प्रतिशत शामिल है।

बढ़त में रहने वालों में एयरटेल 3.16 प्रतिशत, महिंद्रा 3.0 प्रतिशत, रिलायंस 1.16 प्रतिशत, सन फार्मा 1.14 प्रतिशत, आईटीसी 0.90 प्रतिशत, डॉ. रेड्डीज 0.76 प्रतिशत, बजाज फिनसर्व 0.69 प्रतिशत, एक्सिस बैंक 0.67 प्रतिशत, टेक महिंद्रा 0.33 प्रतिशत, एचडीएफसी 0.19 प्रतिशत, नेस्ले इंडिया 0.19 प्रतिशत, एल टी 0.09 प्रतिशत शामिल है।(वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अफगानिस्तान पर 7 देशों के NSA की बैठक दिल्ली में शुरू, अजीत डोभाल ने बताया चुनौतियों से निपटने का प्लान