Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Ranga panchami ka Swagat करें इन 10 तरह की खास Sweet Dishes से, दुगना हो जाएगा होली का आनंद

webdunia
Rang panchmi Special Food
 रंग पंचमी पर बनाएं 10 प्रकार की मिठाइयां
 
रंगों का त्योहार होली भला किसे पसंद नहीं होगा। होली के इस खास मौके पर आप परिवार वालों और मेहमानों के लिए खास व्यंजन बना सकते हैं। तो आइए जानते हैं 10 अलग-अलग तरह की मिठाइयां बनाने के सरल तरीके। रेसिपी और रंगों के इस त्योहार को और मिठासभरा बनाएं और होली के रंगों से जमा दें घर में महफिल...।

1. सूजी-खोया के लजीज मालपुए
 
सामग्री : 
मैदा 500 ग्राम, दूध 300 ग्राम, रवा या सूजी 250 ग्राम, खोया 250 ग्राम, शक्कर 250 ग्राम, बारीक सौंफ 10 ग्राम, पिस्ता के टुकड़े 50 ग्राम, बादाम (बारीक कटे) 100 ग्राम, बारीक इलायची 10 ग्राम, पानी आवश्यकतानुसार, देसी घी डीप फ्राई के लिए, शीरा एक किलो ग्राम
 
विधि : 
एक कटोरे में खोया हाथ से गूंथ लें। अब इसमें मैदा व सूजी मिलाएं। गूंथते समय इसमें दूध डालती रहें और गाढ़े घोल की तरह धीरे-धीरे फेंटे। जब दूध डाले लें तो एक ही दिशा में फेंटें। अब गाढ़ा घोल तैयार कर लें जिसमें थोड़ी भी गांठ न बनी हो।
 
अब बची हुई सामग्रियां (शीरा और कुछ पिस्ता) भी मिलाएं। घोल को चार से छह घंटे तक अलग रख दें। एक पैन में घी गर्म करें। सर्विस स्पून से थोड़ी मात्रा में घोल लेकर पैन में अच्छी तरह से फैलाएं। धीमी आंच पर पकाएं जब तक किनारे से पुआ थोड़ा कुरकुरा न हो जाए। आंच से हटाकर अब उसे शीरे में दो से तीन मिनट तक रखें। पिस्ते के बचे हुए टुकड़ों की गार्निश करके गर्मागर्म परोसें। 



2. रंगी‍ली रसभरी गुझिया
 
सामग्री :
500 ग्राम मैदा, 250 ग्राम शक्कर, 125 ग्राम चने की दाल, 250 ग्राम दूध, 100 ग्राम मावा (सिंका हुआ), बादाम, काजू, किशमिश, पिस्ता, चारोली 10 ग्राम, मीठा रंग चुटकीभर, केसर 2 चुटकी, 6-7 पिसी छोटी इलायची, घी एवं वर्क।
 
विधि :
चने की दाल को दूध में रा‍त को गलने रख दीजिए और सुबह चार सीटी देकर कुकर में पका ली‍जिए। अब मिक्सी में बारीक कर लें। कड़ाही में पीसी दाल और 100 ग्राम शक्कर मिलाकर मध्यम आंच पर पकने रखिए। गाढ़ा होने पर इसमें सिंका मावा मिला दीजिए और मेवे की सारी सामग्री डालकर अच्छी तरह मिक्स कर लें।
 
अब मैदे में थोड़ा-सा नमक एवं एक बड़ा चम्मच घी का मोयन देकर गुनगुने पानी से गूंथिए। छोटी-छोटी लोइयां बनाइए, पूरियां  बेलिए। तत्पश्चात गुझिया बनाने वाले सांचे में पूरी रखिए, आवश्यकतानुसार मिश्रण रखिए, पूरी के किनारों पर पानी अंगुली में लगाकर फेरिए। गुझिया चिपकाइए।
 
एक कड़ाही में घी गरम करके सब गुझियों को खस्ता होने तक तल लीजिए। अब बची शक्कर की चाशनी बनाकर इसमें केशरिया रंग घोलिए। गुझियों को एक-एक कर इस चाशनी में डुबो-डुबो कर एक थाली में निकालिए। चांदी का वर्क चिपकाकर सजावट कीजिए और परोसें। 


 
3. मैंगो मालपुआ  
 
सामग्री : 
500 ग्राम ताजे आम, 250 ग्राम मैदा, 100 ग्राम मावा, 300 ग्राम शक्कर, केशर व इलायची चुटकीभर, तलने के लिए घी। 
 
विधि : 
सबसे पहले आम को छील लें एवं रस निकालकर मैदा व मावा डालकर मिक्स कर लें। शक्कर में पानी डालकर चाशनी बना लें। इसमें केशर व इलायची पावडर डाल दें। फ्राइंग पैन में घी गरम करें व चम्मच से घोल को थोड़ा-थोड़ा डालें। धीमी आंच पर गुलाबी होने तक तलें। तलकर चाशनी में डालें। चाशनी में से निकालकर सर्व करें। 
 

4. जाफरानी श्रीखंड विद नट्‍स
 
सामग्री :
500 ग्राम फ्रेश चक्का, 400 ग्राम चीनी, चुटकी भर मीठा पीला रंग, 5-6 केसर के लच्छे, 1 चम्मच इलायची पावडर, मेवे की कतरन पाव कटोरी, 1 ताजे लाल गुलाब की पंखुड़ियां।
 
विधि :
सबसे पहले श्रीखंड के चक्के में चीनी मिला कर एक-दो घंटे रख दें। शक्कर पूरी तरह घुल जाने पर चक्के को अच्छी तरह मिलाएं और स्टील की छलनी या कॉटन के कपड़े से छान लें। तत्पश्चात इलायची पावडर, केसर और मेवे की कतरन मिलाएं।
 
मीठे रंग को एक अगल कटोरी में थोड़े-से पानी या दूध में घोल लें। यह अपनी सुविधानुसार श्रीखंड में मिलाएं। जितना गहरा रंग आप श्रीखंड का रखना चाहते है, उतना ही कलर मिलाएं। सभी को अच्छी तरह मिक्स कर लें। ऊपर से गुलाब की पंखुड़ियां बिखेरें। तैयार श्रीखंड को फ्रिज में रखें। ठंडा होने पर जाफरानी श्रीखंड विद नट्‍स का लुत्फ उठाएं। 
 

 
5. रंगबिरंगा शेक विद आइस्क्री‍म 
 
सामग्री :
4 छोटी कटोरी आइस्क्रीम, दूध 4 प्याले, पाइनापल ज्यूस आधा प्याला, चीनी एक प्याला, एक छोटा पैकेट रंग-बिरंगी चॉकलेट बॉल्स, क्रीम आधा प्याला, वेनिला सत आधा छोटा चम्मच, हरा व लाल रंग एक-एक बूंद, कुटी बर्फ आवश्यकतानुसार।
 
विधि :
सबसे पहले दूध, चीनी व वेनिला को मिक्सी में पीसकर उसमें क्रीम व ज्यूस मिला दें। कुल मिश्रण के 3 भाग करें। 
 
एक भाग में हरा रंग, दूसरे में लाल तथा तीसरा यूं ही छोड़ दें। अब 6 गिलासों में इस मिश्रण को भरें। ऊपर से कुटी हुई बर्फ थोड़ी-थोड़ी डालें। 3-4 रंगीन बॉल प्रत्येक गिलास में डालें। ऊपर से आइस्क्रीम डालें और चम्मच से थोड़ा-सा मिलाकर पेश करें। 

 
6. रंगबिरंगी बर्फी  
 
सामग्री : 
2 कप कटा पाइनापल, 1 कप मावा, 1 कप शक्कर, इलायची, केसर, कुछेक बूंद मीठा रंग और अन्य कलर। 
 
विधि : 
सबसे पहले कटे पाइनापल को एक बाउल में भर लें व ऊपर से शक्कर बुरका कर रख लें। अब कुकर के तले में 200 मि.मी. पानी रखकर पाइनापल वाला बाउल रखें। 20 से 25 मिनट तक धीमी आंच पर पकाएं, ठंडा करें व मिक्सी में पीसकर सूप की छलनी से छानिए, पल्प तैयार है। 
 
इसे नानस्टिक या स्टील की कड़ाही में ही बनाएं। कड़ाही में पाइनापल का पल्प व शक्कर डालें और उसको चलाते हुए धीमी आंच पर गाढ़ा करें। दूसरी कड़ाही में मावे को गोली बनने तक सेंकिए और पाइनापल पल्प डालिए। फिर इकट्ठा होने तक सेंकें। 
 
अब तैयार सामग्री को ट्रे में फैलाएं। कटे पिस्ता व केसर डालें। अलग-अलग रंगों की कुछेक बूंदे ऊपर से छिड़ककर रंगबिरंगी कलरफुल बर्फी काटें और सर्व करें। 
 


7. चॉकलेट गुझिया विद ड्रायफ्रूट्‍स
 
सामग्री :
250 ग्राम मैदा, 1 टी स्पून घी, 1/4 टी स्पून बैकिंग पावडर, चुटकीभर नमक व कोको पावडर, तलने के लिए घी व दूध। 
 
भरावन सामग्री :
100-100 ग्राम मावा व पिसी शक्कर, काजू-बादाम कतरन, किशमिश, इलाइची पावडर, 1 चॉकलेट किसी हुई व चॉकलेट सॉस। 
 
विधि :
चॉकलेट सॉस को छोड़कर गुझिया की सभी भरावन सामग्री मिक्स करें। अब मैदे में घी का मोयन देकर दूध की सहायता से सख्त गूंथ लें। थोड़ी देर ढंककर रखें। मैदे की छोटी-छोटी पूरी बेलें व बीच में भरावन का तैयार मिश्रण दो छोटे चम्मच भरें और फोल्ड करके सब तरफ से पानी की सहायता से बंद कर लें। 
 
अब घी गर्म करें व सभी गुझियों को धीमी आंच पर सुनहरा होने तक तल लें। थोड़ा ठंडा होने ऊपर से चॉकलेट सॉस से डिजाइन बना लें। यह गुझिया देखने में सुंदर व खाने में नया स्वाद देगी।


 
8. श्रीखंड
 
सामग्री :
2 किलो ताजा दही, मेवे की कतरन, जायफल पावडर चुटकी भर, कुछेक लच्छे केसर, इलायची पावडर एक छोटा चम्मच, शक्कर स्वादानुसार, ताजे और साफ किए हुए अंगूर (इच्छानुसार)। 
 
विधि :
सबसे पहले ताजा दही को एक दिन पहले मलमल के कपड़े में बांधकर लटका दें। दूसरे दिन पूरा पानी निथर जाने पर उतार लें। अब इसमें शक्कर मिलाकर कुछ देर के लिए रख दें। शक्कर घुल जाने पर किसी बर्तन पर मलमल का बारीक कपड़ा बांधकर इसे छान लें। 
 
आधे चम्मच दूध में केसर डालकर कुछ देर भीगे दो, फिर घोट लें। अब इलायची पावडर, मेवे की कतरन, जायफल पावडर और घोंटी हुई केसर मिलाकर अच्छी तरह मिक्स कर लें। अब अंगूर डालकर फ्रिज में ठंडा होने के लिए रखें। अच्छी तरह ठंडा हो जाने पर श्रीखंड पेश करें। श्रीखंड पश्चिम भारत की पारंपरिक मिठाई है, जो हर किसी को पसंद आती है। 
 

 

9. कुरकुरे गुलगुले 
 
सामग्री :
1 कटोरी ताजे-ताजे दूध वाले भुट्टे के दाने, 1/2 कटोरी शक्कर, 1/2 चम्मच इलायची पावडर, 1 चम्मच तिल्ली, 1 चम्मच खसखस और तेल। 
 
विधि :
सर्वप्रथम भुट्टे के दाने का मिक्सी में बारीक पेस्ट कर लें। अब इस पेस्ट में शक्कर, इलायची, तिल्ली, खसखस डालकर पेस्ट तैयार करें और करीब आधे घंटे के लिए ढंक कर रख दें। 
 
इसके बाद बड़े चम्मच की सहायता से इसे अच्छी तरह से फेंटें। अब कड़ाही में तेल गरम करके छोटे-छोटे कुरकुरे गुलगुले तलें और गरम-गरम सर्व करें।
 


10. नारियली बर्फी  
 
सामग्री :
1 बड़ा गीला नारियल, डेढ़ लीटर मलाईयुक्त दूध, 200 ग्राम शक्कर का बूरा, पाव छोटी चम्मच केसर, पाव छोटी चम्मच इलायची पावडर, कुछेक बूंद गुलाब जल, चांदी का वर्क।  
 
विधि :
सर्वप्रथम नारियल को फोड़कर उसमें से निकले पानी को डेढ़ लीटर दूध में मिलाए और तेज आंच पर मोटे तल वाली कड़ाही में औटाने के लिए रख दें। तत्पश्चात नारियल के टुकड़े करके मिक्सी में महीन होने तक पीस लें। इसमें शक्कर का बूरा मिलाए। 
 
अब दूध को तेज आंच पर औटाते हुए जो मलाई की परत बनती जाए उसे कड़ाही के चारों ओर फैलाते जाइए। इस प्रकार दूध के कई लच्छे तैयार होते जाएंगे। आधा दूध बाकी रहने पर इसमें थोड़ा-थोड़ा करके नारियल का पेस्ट मिलाते रहिए। इसी प्रकार पूरे दूध के लच्छे तैयार करके दूध को अच्छी तरह औटा लें। फिर केसर, इलायची पावडर, गुलाब जल डालकर आंच बंद कर दीजिए। 
 
अब एक बड़े पटिए या बड़ी परात पर पॉलीथिन बिछाकर उसके ऊपर मिश्रण रखें। फिर दूसरी पॉलीथिन इस पर रखकर हल्के हाथ से बेलन फेरिए, जब तक उसकी पतली तह न बन जाएं। अब ऊपर वाली पॉलीथिन धीरे से हटाइए। मिश्रण अच्छी तरह ठंडा होने पर अपने मनपसंद आकार में बर्फी काट कर ऊपर से चांदी के वर्क से सजाकर पेश करें।


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

चैत्र माह की द्वितीया पर होता है भगवान चित्रगुप्त का पूजन, पढ़ें उनके जन्म की पौराणिक रोचक कथा