Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

गेंद से 4 विकेट और बल्ले से 3 छक्के भी सुनील नारायण को नहीं दिलवा पाएंगे टी-20 विश्वकप का टिकट

हमें फॉलो करें webdunia
बुधवार, 13 अक्टूबर 2021 (18:30 IST)
दुबई: सोमवार को सुनील नारायण ने एलिमिनेटर में जिस तरीके का खेल दिखाया, वह आईपीएल के सबसे बेहतरीन व्यक्तिगत प्रदर्शन में से एक था। इसके बावजूद वेस्टइंडीज़ शुक्रवार को आईसीसी की समय सीमा से पहले आगामी पुरुष टी-20 विश्व कप के लिए उन्हें अपनी टीम में शामिल नहीं करेगा।

नारायण ने सोमवार को आरसीबी के ख़िलाफ़ 21 रन देकर 4 विकेट लिए जिसमें विराट कोहली, एबी डीविलियर्स और ग्लेन मैक्सवेल का विकेट शामिल है। शारजाह में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर को 7 विकेट के नुकसान 138 रनों के छोटे स्कोर पर रोकने में नारायण की अहम भूमिका थी। उसके बाद जब वह बल्लेबाज़ी करने के लिए आए तो उन्होंने पहले 3 गेंदों में 3 छक्के लगाए, हालांकि इन तीन गेंदों के बीच 1 वाइड भी फेंका गया था।

webdunia

2 साल से नहीं खेले हैं वेस्टइंडीज के लिए

यूएई में आईपीएल के फिर से शुरू होने के बाद से उन्होंने प्रति ओवर 6.12 रन देकर आठ मैचों में 11 विकेट लिए हैं।नारायण ने अगस्त 2019 से कई कारणों से अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट नहीं खेला है। वेस्टइंडीज़ के टी 20 विश्व कप टीम में न्यूनतम फ़िटनेस मानदंडों को पूरा करने में विफल रहने के बाद उन्हें टीम में शामिल नहीं किया गया था। मुख्य चयनकर्ता रोजर हार्पर ने उस समय कहा था, "इस तरह के टूर्नामेंट में कोई भी टीम टीम उस गुणवत्ता के गेंदबाज़ को मिस करेगी लेकिन वह हमारे फ़िटनेस टेस्ट को पास करने में सफल नहीं हो पाए थे।"

मंगलवार को दुबई में मौजूद वेस्टइंडीज़ के कप्तान और नारायण के करीबी दोस्त कीरोन पोलार्ड ने नारायण को टीम में शामिल नहीं किए जाने पर ज़्यादा बात करने से इंकार कर दिया। हालांकि उन्होंने यह संकेत जरूर दिया कि 15 सदस्यीय टीम में कोई बदलाव नहीं होगा।

उन्होंने कहा, "यह बेहतर है कि हम उन पंद्रह खिलाड़ियों के बारे में सोचें, जो हमारे पास हैं। यह ज़्यादा महत्वपूर्ण है। हमें इन्हीं खिलाड़ियों के साथ यह सोचना होगा कि क्या हम अपने ख़िताब की रक्षा कर सकते हैं।"

उन्होंने कहा, "इस पर मेरी कोई टिप्पणी नहीं है। इस पर काफ़ी कुछ कहा जा चुका है। कई लोगों ने उनके टीम में शामिल नहीं होने का कारण बताया है। मैं व्यक्तिगत रूप से सुनील नारायण को एक अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर से पहले एक दोस्त के रूप में जानता हूं। हम एक साथ क्रिकेट खेलते हुए बड़े हुए हैं। वह एक विश्व स्तरीय क्रिकेटर हैं।" पोलार्ड हालांकि आंद्रे रसेल को अपनी टीम में चाहते हैं जो चोटिल होने के कारण 26 सितंबर से आईपीएल का कोई मैच नहीं खेल पाये हैं।

उन्होंने कहा, ‘‘हमें उसे देखने का मौका नहीं मिला है। हमें रिपोर्ट मिली है कि वह क्या कर रहा है। मैं अभी यह नहीं कह सकता कि उसे क्या करना चाहिए और क्या नहीं। वह हमारी टीम का महत्वपूर्ण सदस्य है और हम उसे शत प्रतिशत फिट देखना चाहते हैं, लेकिन हमारे सामने जैसी भी परिस्थितियां होगी हमें उनके अनुसार खेलना होगा।’’

मैदान से नस्लवाद का प्रतीकात्मक विरोध करते रहेंगे : पोलार्ड

वेस्टइंडीज़ के खिलाड़ी टी-20 विश्व कप के हर मैच से पहले घुटने ज़मीन पर टिकाकर नस्लवाद का विरोध करते रहेंगे। टीम के कप्तान कीरोन पोलार्ड ने इसकी पुष्टि की है।

मई, 2020 में अमेरिका में जॉर्ज फ़्लॉयड के साथ घटी नस्लवादी घटना के बाद से वेस्टइंडीज़ के खिलाड़ी और सपोर्ट स्टाफ़ लगातार हर मैचों में ऐसा करके 'ब्लैक लाइव्स मैटर' आंदोलन का समर्थन देते हैं। मंगलवार को दुबई में टीम के ट्रेनिंग कैंप से पत्रकारों से बात करते हुए पोलार्ड ने कहा कि वह ऐसा इस टूर्नामेंट में भी करना जारी रखेंगे।

उन्होंने कहा, "हम इसे बरक़रार रखने जा रहे हैं, क्योंकि हम इस पर दृढ़ता से विश्वास करते हैं। हम यह समर्थन आगे भी जा रखेंगे।"पोलार्ड ने यह भी कहा, "मैं नहीं चाहता कि विपक्षी टीम भी ऐसा करे क्योंकि सामने वाली टीम ऐसा कर रही है। यह ऐसी चीज़ है, जिसको सहानुभूति की नहीं समर्थन की ज़रूरत है, अगर आपका मन हो तो ही करे।"

पोलार्ड ने कहा, "नस्लवाद और ब्लैक लाइव्स मैटर पर सबकी अपनी राय है। इसलिए मैं उनसे किसी चीज़ को करने के लिए नहीं कह सकता और ना ही उनसे उम्मीद करता हूं कि वे ऐसा करें। अगर आप किसी से उम्मीद करते हैं और वैसा नहीं होता है, तो आपको बहुत ही अधिक निराशा मिलती है। अगर विपक्षी टीम भी ऐसा सोचती है, तो यह उन पर निर्भर है कि वे ऐसा करें या ना करें। यह उनकी व्यक्तिगत पसंद है।"

इंग्लैंड के तेज़ गेंदबाज़ क्रिस जॉर्डन ने मंगलवार को कहा था कि उनकी टीम ने अभी इस पर कोई बात नहीं की है। ग़ौरतलब है कि वेस्टइंडीज़ का पहला मैच इंग्लैंड के ख़िलाफ़ ही है। पिछले साल वेस्टइंडीज़ के ख़िलाफ़ सीरीज़ के दौरान इंग्लैंड टीम ने भी वेस्टइंडीज़ के खिलाड़ियों के साथ ऐसा किया था। लेकिन इसके बाद पूरे सीज़न के दौरान उन्होंने ऐसा नहीं किया, जिसकी पूर्व कैरेबियाई तेज़ गेंदबाज़ और कॉमेंटेटर माइकल होल्डिंग ने आलोचना की थी।(वार्ता)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दिल्ली और कोलकाता के इन खिलाड़ियों को किया जा सकता है फैंटेसी टीम में शामिल