Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

9 साल हो गए इस टूर्नामेंट में विराट का विकेट नहीं चटका सका कोई पाकिस्तानी गेंदबाज!

2021 के मैच में भी नाबाद रहने की कोशिश करेंगे विराट कोहली

webdunia
गुरुवार, 21 अक्टूबर 2021 (20:35 IST)
वनडे विश्वकप हो या फिर टी-20 विश्वकप भारत पाकिस्तान मैच से पहले एक बात हर बार दोहरायी जाती है वह यह कि भारत का पाकिस्तान के खिलाफ 100 प्रतिशत रिकॉर्ड रहा है। भारत ने टी-20 विश्वकप के पांचो मुकाबलों में पाकिस्तान को परास्त किया है।

इसका मतलब यह है कि एक भी बार पाकिस्तान भारत को टी-20 विश्वकप में हराने में कामयाब नहीं हुआ है। लेकिन यही नहीं पाकिस्तान के गेंदबाज अब तक टी-20 विश्वकप में विराट कोहली का विकेट एक बार भी नहीं ले पाए हैं।

यह सुनने में अजीब सा लगता है लेकिन साल 2012 में विराट कोहली ने अपना पहला टी-20 विश्वकप खेला। और तब से लेकर अब तक पाकिस्तानी गेंदबाज एक बार भी विराट कोहली का विकेट नहीं निकाल पाए हैं।

हालांकि इस दौरान पाकिस्तान के खिलाफ टी-20 विश्वकप में भारत सिर्फ 3 मर्तबा आमने सामने हुआ। लेकिन कोई बल्लेबाज एक टीम के खिलाफ अगर तीनों मैचों में नाबाद जाता है तो इसके दो ही मतलब निकाले जा सकते हैं। या तो वह बल्लेबाज सामने वाली टीम के गेंदबाजों को भली भांति परखता है या तो विपक्षी गेंदबाजों के खिलाफ उसके लिए कोई योजना नहीं है।

बहरहाल इस बात पर नजर डालते हैं कि कैसे विराट कोहली ने पाकिस्तान के गेंदबाजों को अब तक विकेट के लिए तरसाए रखा है।

साल 2012 - विराट ने नाबाद 78 रन बनाए

विराट कोहली ने इस मैच में बल्ले से पहले गेंद से ही कमाल दिखा दिया था। उन्होंने शुरुआत में ही मोहम्मद हफीज का विकेट चटका दिया। इसके बाद जब वह बल्लेबाजी करने उतरे तो पाकिस्तानी गेंदबाजों की जमकर क्लास ली।

बल्लेबाजी के समय कोहली ने 42 और 64 रन के स्कोर पर मिले जीवनदान का पूरा फायदा उठाते हुए 61 गेंद में 8 चौकों और 2 छक्कों की मदद से नाबाद 78 रन की पारी खेली थी, जिससे भारत ने 129 रन के लक्ष्य को तीन ओवर शेष रहते हासिल कर लिया था।

वह टीम इंडिया को अंत में मैच जिताकर वापस लौटे। उनकी इस धुंआधार पारी के कारण उन्हें मैन ऑफ द मैच का पुरुस्कार दिया गया।
webdunia

साल 2014- विराट ने बनाए नाबाद 36 रन

इस मैच में विराट कोहली अर्धशतक तो नहीं जमा पाए थे लेकिन इस बार भी किसी भी  पाकिस्तानी गेंदबाजो को उनका विकेट नहीं मिल पाया था। विराट कोहली ने 32 गेंदो में 36 रन बनाकर भारत को पाक के खिलाफ जीत दिलायी। इस पारी में विराट ने 4 चौके और 1 छक्का लगाया था। इस बार भी विराट का स्ट्राइक रेट 100 से ज्यादा का रहा था। पिछली बार विराट कोहली ने काफी ताबड़तोड़ पारी खेली थी लेकिन इस पारी मे उन्होंने सूझबूझ से अपनी पारी को आगे बढ़ाया।

साल 2016- विराट ने बनाए नाबाद 55 रन

साल 2016 में एक बार फिर विराट कोहली भारत के चेस मास्टर बने। विराट कोहली के 37 गेंदो में 55 रन की बदौलत भारत इस वर्षाबाधित मैच को लगभग 3 ओवर पहले ही जीत गई। यह मैच 20 की जगह 18 ओवर का रहा।

अपनी पारी में विराट कोहली ने 7 चौके और 1 छक्का लगाया था। विराट की यह पारी ज्यादा महत्वपूर्ण इसलिए थी क्योंकि भारत एक समय 23 रनों पर 3 विकेट गंवा चुका था। विराट कोहली दूसरे छोर पर मोहम्मद समी की गेद पर पहले शिखर धवन को और फिर अगली गेंद पर सुरेश रैना को बोल्ड होते हुए देख चुके थे लेकिन उन्होंने अपनी एकाग्रता नहीं खोई।
webdunia

3 मैचों में बनाए 169 रन

इस तरह विराट कोहली बिना आउट हुए पाकिस्तान के खिलाफ टी-20 विश्वकप के 3 मैचों में 169 रन बना चुके हैं। इतने रन बनाने के लिए उन्होंने सिर्फ 130 गेंद इस्तेमाल की। इन मैचों में विराट ने कुल 19 चौके लगाए और 4 छक्के लगाए।

हर पारी में उन्होंने गेंदे कम और रन ज्यादा बनाए। एक और दिलचस्प बात यह रही कि तीनों मैचों में उन्होंने बाद में बल्लेबाजी करने पर यह रन बनाए। फैंस को उम्मीद होगी कि विराट का यह अविजित रिकॉर्ड 2021 के मैच में भी कायम रहे।(वेबदुनिया डेस्क)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

टी-20 विश्वकप में एशिया का जलवा, बांग्लादेश ने PNG को 84 रनों से हराकर किया सुपर 12 में प्रवेश