Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

स्कूल में पड़ी डांट, चाकू लेकर सुसाइड करने चला छात्र

हमें फॉलो करें webdunia

अवनीश कुमार

शनिवार, 10 सितम्बर 2022 (15:17 IST)
कानपुर। कानपुर के थाना बिठूर के अंतर्गत स्कूल में पड़ी डांट को एक छात्र बर्दाश्त न कर सका और घर आकर सुसाइड नोट लिखने के बाद चाकू लेकर खुद को कमरे में बंद कर दिया। उसने अपने चाचा से कहा कि आज बहुत बेइज्जती हुई है और इस बेज्जती के बाद जिंदा रह पाना मेरे लिए संभव नहीं है इसलिए मैं खुद को खत्म करने जा रहा हूं।
 
भतीजे के यह शब्द सुन चाचा ने घबराकर घटना की जानकारी डायल 112 दी मौके पर पहुंची पुलिस ने छात्र को समझा-बुझाकर कमरे के बाहर निकाला और फिर छात्र की पूरी बात सुनते हुए बेज्जती करने वाले लोगों के ऊपर कार्रवाई करने का भरोसा भी दिया तब जाकर कहीं छात्र शांत हो सका।
 
क्या था मामला - कानपुर के थाना बिठूर के लक्ष्मनपुर निवासी अनिल वर्मा का बेटा प्रतीक वर्मा नारामऊ स्थित एक इंटर कालेज में बाहरवीं का छात्र है। प्रतीक ने मंधना चौकी में पुलिस को दी तहरीर में बताया की शुक्रवार सुबह 7:30 बजे से करीब 15 मिनट देरी से पंहुचा था। गर्मी की वजह से उसने शर्ट की बाजू मोड़ रखी थी।
 
स्कूल प्रबंधक ने प्रार्थना मैदान पर उसे रोककर बुरी तरह बेइज्जत किया और फिर कैची मंगवाकर सबके सामने उसकी शर्ट की बाजू काट दी। कैंची लगने से उसके हाथ में हल्की खरोंच भी आ गई थी।
 
छात्र ने पुलिस को बताया कि उसने अपने चाचा को जानकारी देते हुए कहा था कि चाचा बहुत बेइज्जती हुई है और अब वह किसी के सामने नहीं जा सकता है। इस लिया वह अब सुसाइड करने जा रहा हूं। उसने बताया कि चाचा से बात करने के बाद उसने खुद को कमरे में बंद कर लिया था और मारने का प्रयास कर रहा था लेकिन इसी दौरान घर वालों ने पुलिस वालों को बुला लिया पुलिस वालों ने जब बेज्जती करने वालों के ऊपर कड़ी से कड़ी कार्रवाई की बात कही तो उसने दरवाजा खोल दिया था।
 
क्या बोले थाना प्रभारी : बिठूर थाना प्रभारी अमर नाथ विश्वकर्मा ने बताया कि मामले में तहरीर मिली है, स्कूल प्रबंधक की तलाश की जा रही है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज करके कार्रवाई की जाएगी।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

अखिलेश का केशव प्रसाद मौर्य से सवाल, आप इतना क्यों मुस्कुरा रहे हो?