छोटे किसानों और मछुआरों के लिए वरदान साबित हो रहा डाक विभाग

बुधवार, 13 मई 2020 (15:10 IST)
लखनऊ। उत्तरप्रदेश में लॉकडाउन के दौरान डाक विभाग छोटे किसानों और मछुआरों जैसे समुदायों के लिए वरदान साबित हो रहा है। डाक विभाग की बदौलत उन्हें घर बैठे पैसा मिल रहा है जिसने 1 दिन में जरूरतमंदों को लगभग 30 करोड़ रुपए उनके घर तक पहुंचाए।
ALSO READ: कोरोना लॉकडाउन-4: नए रूप रंग में कैसा होने वाला है?
उत्तरप्रदेश के चीफ पोस्ट मास्टर जनरल कौशलेन्द्र कुमार सिन्हा ने कहा कि उत्तरप्रदेश पोस्टल सर्किल ने 11 मई को 'मेगा महा लॉग इन दिवस' मनाया। इस दिन यूपी सर्किल की टीम ने आधार इनेबल्ड पेमेंट सिस्टम (एईपीएस) के जरिए 2.74 लाख ट्रांजेक्शन (लेन-देन) की प्रोसेसिंग की और जरूरतमंदों को लगभग 30 करोड़ रुपए उनके घर तक पहुंचाए।
 
उन्होंने कहा कि डाकिए के पास माइक्रो एटीएम होता है। आप माइक्रो एटीएम से 10 हजार रुपए तक की रकम निकाल सकते हैं। शर्त केवल इतनी है कि आपका बैंक खाता आधार और मोबाइल से लिंक होना चाहिए और संबंधित मोबाइल रकम निकालते के समय मौजूद होना चाहिए।
 
उन्होंने बताया कि जब से लॉकडाउन लागू हुआ है, हम लगातार 80 हजार ट्रांजेक्शन (लेन-देन) रोजाना कर रहे हैं,दूसरे बैंकों का ट्रांजेक्शन कर रहे हैं, उसके अलावा अपना भी कर रहे हैं। सिन्हा ने कहा कि डाक विभाग की इस पहल से बूढ़े, दिव्यांग, अक्षम, गरीब, किसान और मजदूरों को सबसे ज्यादा लाभ हो रहा है।
 
प्रदेश के निदेशक, डाक सेवाएं (मुख्यालय) राजीव उमराव ने कहा कि एईपीएस 'महा लॉग इन अभियान' के दौरान लखनऊ मुख्यालय क्षेत्र के तहत डाइरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर (डीबीटी) के तहत 31 हजार से अधिक लाभार्थियों को 3.15 करोड़ रुपए वितरित किए गए। (भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख पलायन की पीड़ा, सैकड़ों किलोमीटर गर्भवती पत्नी और बच्ची को खींचकर लाया...