Fact Check: क्या CIPLA एक कॉल पर सीधे मरीजों के अस्पताल पहुंचाएगा कोरोनावायरस की दवा रेमडेसिवीर, जानिए पूरा सच..

शुक्रवार, 17 जुलाई 2020 (16:43 IST)
देश में कोरोना वायरस का संक्रमण तेजी से फैल रहा है। इस बीच सोशल मीडिया पर देश की जानी-मानी फार्मा कंपनी सिप्ला का एक हेल्पलाइन नंबर तेजी से वायरल हो रहा है। दावा है कि इस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करने से कंपनी सीधे उस अस्पताल में रेमडेसिवीर दवा पहुंचा देगी, जहां पर मरीज भर्ती है। बता दें, रेमडेसिवीर एक एंटी वायरल दवा है और विषेशज्ञों का दावा है कि यह कोरोना के मरीजों के इलाज में कारगर है।

क्या है वायरल-

‘कोविड-19 के लिए सिप्ला हेल्पलाइन’ के शीर्षक के साथ हेल्पलाइन नंबर वाले पोस्टर के साथ लिखा गया है कि ‘ब्लैक मार्केटिंग रोकने के लिए कंपनी सीधे मरीजों के अस्पतालों में नई रेमडेसिवीर दवा सप्लाई करेगी। किसी डीलर, किसी केमिस्ट के पास जाने के जरूरत नहीं।’

Cipla Helpline for #Covid-19 pic.twitter.com/wXG6rkn7hU

— Ibrahim (@CMibrahim_IN) July 15, 2020


क्या है सच-

हमने सिप्ला के आधिकारिक ट्विटर हैंडल को चेक किया, तो हमें पता चला कि कंपनी ने कोरोना काल के लिए एक हेल्पलाइन जारी किया है। 15 जुलाई के ट्वीट में कंपनी ने वही पोस्टर शेयर किया है, जो वायरल हो रहा है। लेकिन पोस्टर शेयर करते हुए कंपनी ने लिखा है कि सिप्ला ने केवल कोरोना काल के लिए जरूरी दवाइयां की उपलब्धता के बारे में जानकारी देने के ‍लिए एक अतिरिक्त हेल्पलाइन की स्थापना की है। यहां कहीं भी अस्पताल में दवाइयां सप्ला‍ई करने की बात नहीं कही गई है।

UPDATE - Cipla has set up an additional #helpline to share information on availability of critical Cipla products, for the #COVID19 pandemic period only. Please give us a call at 86573 11088 | 022 6282 0886 or email your queries at [email protected] pic.twitter.com/KNZuyg5M4u

— Cipla_Global (@Cipla_Global) July 15, 2020

पड़ताल जारी रखते हुए हमने सिप्ला के हेल्पलाइन नंबर पर कॉल किया, तो एग्जीक्यूटिव ने बताया कि वे सिर्फ हमारे निकटतम मेडिकल स्टॉकिस्ट की जानकारी देंगे, जहां कंपनी की दवाइयां उपलब्ध हैं। उन्होंने साफ-साफ कहा कि इस कॉल के माध्यम से कंपनी दवाइयों की सप्लाई नहीं करती है।

वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया कि वायरल दावा फर्जी है। हेल्पलाइन नंबर पर कॉल करने से सिप्ला रेमडेसिवीर दवा कोरोना मरीज के अस्पताल नहीं पहुंचाएगी। इस नंबर पर सिर्फ आपके निकटतम मेडिकल स्टॉकिस्ट की जानकारी मिलेगी।


वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख असम में बाढ़ से मरने वालों की संख्या हुई 73