क्या मोदी सरकार सबको FREE में सोलर पैनल बांट रही है...

शुक्रवार, 19 जुलाई 2019 (12:46 IST)
सोशल मीडिया पर एक मैसेज काफी वायरल हो रहा है। दावा है कि मोदी सरकार ने फ्री सोलर पैनल योजना शुरू की है जिसके तहत आप अपने घर या गाँव में फ्री में सोलर पैनल लगवा सकते हैं। मैसेज में लोगों से फ्री सोलर पैनल के लिए 31 जुलाई तक रजिस्ट्रेशन करने के लिए कहा गया है और लिंक भी दी गई है।

क्या है वायरल पोस्ट?

वायरल मैसेज में लिखा है, “प्रधानमंत्री फ़्री सोलर पैनल योजना. फ़्री मैं लगवाएँ सोलर पैनल अपने घर या गाँव मैं, आपको किसी प्रकार का शुल्क नहीं भरना बस जल्दी से फ़ॉर्म भरे. आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 जुलाई 2019 है. तो जल्दी करें और इस मैसेज को अपने सभी दोस्तों को भी भेजें ताकि इस योजना का लाभ सभी को मिल सके. अभी आवेदन करें https://solor-panel-apply.blogspot.com/”



क्या है सच?

सरकार की अधिकतर वेबसाइट के आखिरी में nic या gov होता है, लेकिन वायरल मैसेज में दी गई लिंक में ऐसा नहीं है। इसलिए हमें शक हुआ। हमने पाया कि  Ministry of New and Renewable Energy की आधिकारिक वेबसाइट तो https://mnre.gov.in है, जबकि वायरल मैसेज में लिखी वेबसाइट https://solor-panel-3.blogspot.com है।

जब हम Ministry of New and Renewable Energy की आधिकारिक वेबसाइट पर गए तो हमें वहां 8 जुलाई को जारी किया गया एक नोटिस मिला, जो सोलर पैनल के भ्रामक विज्ञापन से संबंधित था। इस नोटिस में मंत्रालय ने लिखा है-

मंत्रालय के संज्ञान में आया है कि आम लोगों को धोखा देने के लिए नि:शुल्क सौर पैनल योजना या ऐसी योजनाओं के लिए प्री-रेजिस्ट्रेशन के बारे में विभिन्न प्लेटफार्मों पर विज्ञापन प्रकाशित/प्रसारित किए जा रहे हैं। इस संबंध में, यह बताया जा रहा है कि ऐसी कोई योजना Ministry of New and Renewable Energy, भारत सरकार द्वारा शुरू नहीं की गई है। आम जनता को चेतावनी दी जाती है कि इस तरह की योजनाओं के जाल में न फंसे।

दरअसल, इस तरह की फर्जी वेबसाइट लोगों को किसी चीज का लालच देती हैं और फिर जाली रेजिस्ट्रेशन पोर्टल के सहारे जमा किए गए आपके डेटा का दुरूपयोग करती हैं। आप ऐसी किसी भी वेबसाइट के चक्कर में ना पड़ें।

वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि वायरल मैसेज फेक है। मोदी सरकार ने ऐसी कोई घोषणा नहीं की है।


वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख बिहार में मॉब लिंचिंग, 3 लोगों को पीटकर मार डाला