क्या न्याय के इंतजार में उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की हुई मौत...

शुक्रवार, 2 अगस्त 2019 (13:19 IST)
सोशल मीडिया पर उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को लेकर एक पोस्ट वायरल हो रहा है। इसमें कहा गया है कि ट्रक से एक्सीडेंट के बाद पीड़िता की अस्पताल में मौत हो गई है। इसके साथ एक तस्वीर भी शेयर की जा रही है, जिसमें एक लड़की घायल अवस्था में बेड पर लेटी दिख रही है। कई फेसबुक यूजर्स ने इस तस्वीर को इसी तरह के दावे के साथ शेयर किया है। इसके अलावा कई यूजर्स इस बारे में वीडियो भी शेयर कर रहे हैं।

कुछ पोस्ट देखें-

सच क्या है-
 
जब हमने उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता की मेडिकल कंडिशन के बारे में पड़ताल की तो हमें न्यूज एजेंसी ANI का एक ट्वीट मिला। लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी की तरफ से बताया गया है कि घायलों की हालत गंभीर लेकिन स्थिर है। उन्नाव उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता अभी भी वेंटिलेटर पर है, जबकि उसके वकील को वेंटिलेटर सपोर्ट से हटा दिया गया है।


उच्चतम न्यायालय ने आज उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता को बेहतर इलाज के लिए दिल्ली स्थानांतरित करने के फैसले पर सोमवार तक रोक लगा दी है। वहीं, पीड़िता की मां ने पीठ को अवगत कराया कि वह अपनी बेटी का उपचार लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल कॉलेज में ही जारी रखना चाहती है। वह उसे उपचार के लिए दिल्ली शिफ्ट नहीं करना चाहती।

क्या है पूरा मामला-
 
उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता 28 जुलाई को अपनी चाची, मौसी और वकील के साथ कार से रायबरेली जेल में बंद अपने चाचा से मिलने जा रही थी। तभी रायबरेली में एक ट्रक से उनकी कार का एक्‍सीडेंट हो गया। हादसे में पीड़िता की चाची और मौसी की मौत हो गई थी। जबकि गंभीर रूप से घायल पीड़िता व वकील का लखनऊ के किंग जॉर्ज मेडिकल यूनिवर्सिटी में इलाज चल रहा है। सीबीआई ने उन्नाव दुष्कर्म पीड़िता के सड़क दुर्घटना मामले में भाजपा विधायक कुलदीप सिंह सेंगर और 9 अन्य के खिलाफ हत्या के आरोपों के तहत मामला दर्ज किया है।
 
बता दें कि उन्नाव दुष्कर्म मामला पिछले साल उस समय चर्चा में आया था जब, उस समय 16 साल की रही पीड़िता ने उत्तर प्रेदश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के आवास के बाहर न्याय के लिए प्रदर्शन किया था। पीड़ित लड़की ने आरोप लगाया था कि 2017 में नौकरी के लिए जब वह भाजपा विधायक कुलदीप सेंगर के घर गई थी तो उसके साथ बलात्कार किया गया था। घटना के लगभग एक साल बाद अप्रैल 2018 में लड़की ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के घर के बाहर खुद को आग लगाने की कोशिश की थी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख आतंकवाद पर अमित शाह, दिग्विजय जी आपको सुनना पड़ेगा