क्या RSS प्रमुख मोहन भागवत ने कहा ‘कोरोना के कारण धर्म से विश्वास उठ गया’, जानिए सच...

शुक्रवार, 22 मई 2020 (16:28 IST)
सोशल मीडिया में एक अखबार की कटिंग जमकर वायरल हो रही है। जिसमें दावा है कि कोरोना वायरस की वजह से आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत का धर्म से विश्वास उठ गया है। साथ ही, देश के सभी मंदिरों को हमेशा के लिए बंद करने की सलाह भी दी है।

क्या है वायरल-

इस खबर का शीर्षक है, “कोरोना ने तोड़ी मेरी धर्म में आस्था - मोहन भागवत”।

आज का सबसे अच्छा समाचार मुझे यह लगा

R.s.s. और मोहन भागवत का यह डर देखकर
अच्छा लगा यह डर होना चाहिए और जल्दी ही लोगों को धर्म से छुटकारा पा लेना चाहिए जिन्हें अपने बच्चों को भविष्य सुधारना है बाकी तो दुनिया है अंधभक्त है कुछ भी कर सकते हैं स्वतंत्र है pic.twitter.com/whlEPvIWau

— बहुजन जागृति मंच (@DR_Ambedkarji) May 19, 2020


क्या है सच-
 

पड़ताल में हमें आरएसएस के अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेंद्र कुमार का एक ट्वीट मिला। ट्वीट में नरेंद्र कुमार ने बताया कि RSS प्रमुख मोहन भागवत ने ऐसा कोई बयान नहीं दिया है। सोशल मीडिया में मोहन भागवत के हवाले से फजी बयान शेयर हो रहा है।

रा.स्व.संघ के पू.सरसंघचालक @DrMohanBhagwat जी के नाम पर सोशल मीडिया में एक फेक न्यूज़ चल रही है। पू.सरसंघचालक जी ने ऐसा कोई वक्तव्य नहीं दिया है। यह समाज तोड़ने वाली शक्तियों का अपने लक्ष्यों की प्राप्ति के लिए समाज में अनास्था, अराजकता और समाज विघटन के प्रयास का एक षड्यंत्र है। pic.twitter.com/oOKyX1QgKd

— NARENDER KUMAR (@NARENDER1970) May 19, 2020


वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि आरएसएस प्रमुख मोहन भागवत के नाम से वायरल बयान फर्जी है। मोहन भागवत ने कोरोना के कारण धर्म पर से विश्वास उठने का कोई बयान नहीं दिया है।


वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख डॉ. हर्षवर्धन WHO कार्यकारी बोर्ड के चेयरमैन बने