क्या यह विशालकाय कंकाल घटोत्कच का है...जानिए वायरल तस्वीर का पूरा सच...

मंगलवार, 16 जुलाई 2019 (13:19 IST)
सोशल मीडिया पर एक विशालकाय कंकाल की तस्वीर वायरल हो रही है, जिसको लेकर दावा किया जा रहा है कि वह कंकाल महाभारत काल के भीम पुत्र घटोत्कच का है। दावा यह भी है कुरुक्षेत्र के पास खुदाई करते समय यह 80 फुट लंबी मानव कंकाल के अवषेश मिले हैं।

क्या है वायरल?

सोशल मीडिया पर एक विशालकाय कंकाल की तस्वीर के साथ यह मैसेज वायरल हो रहा है- “कुरुक्षेत्र में खुदाई के दौरान विदेशी रक्षा विशेषज्ञ को मिला भीम पुत्र घटोत्कच का कंकाल जिसकी लम्बाई 80 फिट है।”

कुरुक्षेत्र में खुदाई के दौरान

विदेशी रक्षा विशेषज्ञ को मिला

भीम पुत्र घटोत्कच का कंकाल

जिसकी लम्बाई 80 फिट है pic.twitter.com/pIhb93PBAx

— Soft Riya kumari Komal #MSRM (@riyariyarikm) July 12, 2019


क्या है सच?

सच यह है कि यह कंकाल घटोत्कच का नहीं है, बल्कि यह तो मानव कंकाल भी नहीं है। यह एक स्कल्पचर है जिसे इटैलियन आर्टिस्ट जिनो डी डोमेनिसिस ने बनाया है। इस स्कल्पचर का नाम ‘Calamita Cosmica’ है, जोकि 28 मीटर लंबा और आठ टन वजनी है। इसका अनावरण 1990 में फ्रांस के ग्रेनोबल शहर के सेंटर नेशनल डेआर्ट कॉन्टेम्पोरियन में हुआ था।

वर्ष 2007 में मिलान के प्लाजो रियल में इसकी प्रदर्शनी लगी थी। वायरल तस्वीर वहीं की है। इस स्कल्पचर की कुछ और तस्वीरें देखने के लिए यहां क्लिक करें।

यह पहली बार नहीं है जब यह तस्वीर गलत दावे के साथ वायरल हुई है। भारत में यह तस्वीर 2015 से सोशल मीडिया पर इसी प्रकार के दावे के साथ वायरल हो रही है। वहीं, कई अन्य देशों में इसे बाइकिल के कैरेक्टर गोलियत का कंकाल ‍बताया गया है।

The Skeleton of Goliath find by archaeologists a proof that "' Bible " is an inescapable fact and undeniable. pic.twitter.com/LnlamOGh2l

— Baba Tunde (@OgBabaTunde) June 30, 2016


इस तस्वीर के अलावा घटोत्कच का कंकाल बताकर ये फेक तस्वीरें भी वायरल होती रही हैं।

Dis is freaky but truth...'Ghatotkach' son of Bheem's skeleton found... pic.twitter.com/OTuZ0zxKqC

— बकलौल बनिया (@RangRasiya420) April 20, 2015
अपने दावे को मजबूती देने के लिए जब नेशनल जियोग्रफी चैनल का नाम जोड़ा गया, तो चैनल ने बताया कि उनकी किसी टीम को भी ऐसा कोई कंकाल नहीं मिला है। यह एक फेक खबर है।

वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है कि विशालकाय कंकाल घटोत्कच का नहीं बल्कि एक आर्टिस्ट का बनाया स्कल्पचर है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख कर्नाटक में सियासी उठापटक : कोर्ट से बोले बागी विधायक, अध्यक्ष को स्वीकार करना होगा इस्तीफा