क्या यूपी के हाथरस में मुसलमानों ने मंदिर के सामने फेंके मांस के टुकड़े... जानिए सच...

मंगलवार, 18 फ़रवरी 2020 (13:09 IST)
सोशल मीडिया पर एक वीडियो तेजी से वायरल हो रहा है, जिसमें सड़क पर कुछ कचरा फैला हुआ दिखाई दे रहा है और आसपास काफी लोग खड़े दिख रहे हैं। इस वीडियो को शेयर कर दावा किया जा रहा है कि ये वीडियो उत्तर प्रदेश के हाथरस का है। वहां मुसलमानों ने एक मंदिर के आस-पास मांस के टुकड़े फेंक‍ दिए।

क्या है वायरल-

ट्विटर यूजर नवनीत गौतम नाम ने वीडियो शेयर करते हुए लिखा- “नाई का नगला मोहल्ला जनपद हाथरस में जहां मिश्रित आबादी रहती है वहां मुसलमानों द्वारा हिन्दुओ के पवित्र स्थल मंदिर के आसपास माँस के लोथड़े फेंके गए है. हिन्दुओ के मंदिरों के साथ ये व्यवहार आखिर कब तक ??”

नाई का नगला मोहल्ला जनपद हाथरस में जहां मिश्रित आबादी रहती है वहां मुसलमानों द्वारा हिन्दुओ के पवित्र स्थल मंदिर के आसपास माँस के लोथड़े फेंके गए है
हिन्दुओ के मंदिरों के साथ ये व्यवहार आखिर कब तक ??@Banswal_IPS @dgpup @igrangeagra @digrangealigarh @Uppolice @myogiadityanath pic.twitter.com/xtplDOmzWl

— Navneet Gautam (@navnret) February 13, 2020


नवनीत ने इस ट्वीट में उत्तर प्रदेश के DGP, आगरा पुलिस के IG रेंज, अलीगढ़ के DIG रेंज, उत्तर प्रदेश पुलिस और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को टैग भी किया।

इस वीडियो को अब तक 37 हजार से अधिक बार देखा गया है और ढाई हजार से अधिक रीट्वीट किया गया है।

ये वीडियो फेसबुक पर भी इसी दावे के साथ वायरल हो रहा है।

क्या है सच-

नवनीत के ट्वीट पर उत्तर प्रदेश पुलिस ने हाथरस पुलिस को टैग किया और आवश्यक कार्रवाई करने को कहा। जिसके बाद हाथरस पुलिस ने बताया कि क्षेत्राधिकारी नगर एवं थाना प्रभारी निरीक्षक कोतवाली नगर को कार्रवाई के लिए निर्देश दे दिया गया है।

इसके बाद हाथरस पुलिस ने एक ग्राफ्रिक की मदद से जवाब दिया। इसमें हाथरस पुलिस ने नवनीत गौतम के आरोपों का खंडन करते हुए लिखा कि नगर क्षेत्राधिकारी ने घटना की जगह का निरीक्षण किया। पुलिस को पता चला कि जो कचरा फैला हुआ था वो मांस के टुकड़े नहीं थे बल्कि मुर्गे के पंख व वेस्टेज थे।  असल में किसी दुकानदार ने इस कूड़े को डस्टबिन में फेंका था, लेकिन कुत्तों ने इस कूड़े को डस्टबिन से निकाल कर फैला दिया। हाथरस पुलिस को मुसलमानों द्वारा हिन्दुओं के पवित्र स्थल मंदिर के आस-पास मांस के लोथड़े फेंके जाने की जानकारी किसी भी स्त्रोत से प्राप्त नहीं हुई है।

हाथरस पुलिस द्वारा उक्त खबर का खंडन किया जाता है pic.twitter.com/t3OFnuSzwq

— HATHRAS POLICE (@hathraspolice) February 14, 2020


वेबदुनिया की पड़ताल में पाया गया है ‍कि हाथरस में मंदिर के सामने मुसलमानों द्वारा मांस के टुकड़े फेंके जाने का दावा झूठा है।


वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख खास खबर : चुनावी साल में ‘बात बिहार की’ के जरिए यूथ वोटरों को साधेंगे प्रशांत किशोर