Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

ज्येष्ठ माह का दूसरा बड़ा मंगलवार आज, आजमाएं ये 5 उपाय

webdunia
आज ज्येष्ठ माह का दूसरा बड़ा मंगल है और इस माह कुल 4 बड़े मंगल होंगे। आज के दिन भगवान हनुमान जी से जो कुछ भी मांगा जाए वह उसे अवश्य पूरा करते हैं। भगवान शिव के 11वें अवतार हनुमान जी को अमर रहने का वरदान मिला था। 
 
क्यों कहते हैं बड़ा मंगलवार : ज्येष्ठ मास के इस मंगलवार को हनुमान जी को अमरत्व का वरदान मिला था, इसी कारण ज्येष्ठ के मंगल को बड़ा मंगल और बूढ़वा मंगल कहते हैं। उत्तरप्रदेश में ज्येष्ठ मास में आने वाले हर मंगलवार को बहुत ही शुभ माना जाता है उनमें भी पहले आने वाले मंगलवार को विशेष मान कर पूजा-अर्चना की जाती है। वैसे तो पूरे ज्येष्ठ मास में हनुमान मंदिर सजे रहते हैं और हर मंगलवार को जगह-जगह पर भंडारे लगते हैं पर बड़ा मंगलवार की बात खास है। यह दिन केवल एक ही धर्म का परिचायक नहीं है बल्कि सर्वधर्म एकता का प्रतीक है।
 
इतिहास : कुछ लोगों के अनुसार बड़ा मंगलवार की शुरुआत करीब 400 साल पहले अवध के नवाब ने की थी। नवाब मोहम्मद अली शाह का बेटा एक बार गंभीर रूप से बीमार हो गया। उनकी बेगम रूबिया ने कई जगह उसका इलाज करवाया, लेकिन वह ठीक नहीं हुआ। लोगों ने उन्हें बेटे की सलामती के लिए लखनऊ के अलीगंज स्थित पुराने हनुमान मंदिर में मन्नत मांगने को कहा। यहां मन्नत मांगने पर नवाब का बेटा स्वस्थ हो गया। 
 
इसके बाद नवाब की बेगम रूबिया ने इस मंदिर का जीर्णोद्धार कराया। वहीं नवाब ने ज्येष्ठ की भीषण गर्मी के दिनों में प्रत्येक मंगलवार को पूरे शहर में जगह-जगह गुड़ और पानी का वितरण करवाया और तभी से इस परंपरा की शुरुआत हुई। 
 
हनुमान जी के बारे में 4 खास बातें... 
 
* धरती पर केवल 7 लोगों को अमरतत्व मिला हुआ है जिसमें से पवनपुत्र हनुमान जी एक हैं।
 
* हनुमान जी को भगवान शिव का 11वां अवतार रूद्र माना जाता है जो अत्यंत बलवान हैं।
 
* हनुमान जी को गुस्सा नहीं आता है इसलिए जो लोग बहुत ज्यादा गुस्सा करते हैं उन्हें हनुमान जी की उपासना करने को कहा जाता है।
 
* हनुमान जी को बजरंगबली इसलिए कहते हैं क्योंकि इनका शरीर एक वज्र की तरह मजबूत है।
 
बड़ा मंगल के दिन करें ये 5 उपाय- 
 
1. हनुमान मंदिर में रसीला पान चढ़ाएं। 
 
2. लाल परिधान छोटे बच्चों को दें, स्वयं भी खरीदें।
 
3. लाल अनाज लाल वस्त्र में दक्षिणा के साथ लपेटकर हनुमान मंदिर में चढ़ाएं।
 
4. लाल शर्बत बंटवाएं।
 
5. बच्चों में लाल रंग के फल बांटें।
 
2021 में कब-कब होगा बड़ा मंगल जानिए- 
 
1.  ज्ञात हो कि ज्येष्ठ मास का पहला बड़ा मंगल 1 जून 2021 को था।
 
2. दूसरा बड़ा मंगल 8 जून 2021, मंगलवार को त्रयोदशी तिथि के दिन सावरठा सिद्धि योग में सुबह 05.36 मिनट से शुरू होकर 09 जून 2021, बुधवार को सुबह 05.07 मिनट तक रहेगी। 
 
3. तीसरा बड़ा मंगल- 15 जून को पंचमी तिथि में रवि और सावरथ सिद्धि योग में मनाया जाएगा। जो सुबह 05.07 मिनट से 09.42 मिनट तक रहेगा।
 
4. चौथा बड़ा मंगल- 22 जून को, भूमि प्रदोष और त्रयोदशी तिथि को त्रिपुष्कर योग में मनाया जाएगा। 
 
बड़े मंगल के दिन हनुमान चालीसा पढ़ने का बहुत महत्व है। इस दिन हनुमान जी के मंदिरों में भंडारे का आयोजन किया जाता है, हालांकि कोरोना संकट के कारण यह नहीं किया जाएगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

काशी विश्वनाथ के 10 अनसुने रहस्य