16 जुलाई को है गुरु पूर्णिमा, मनेगी चंद्र ग्रहण के साये में, किन राशियों के लिए अशुभ

इस वर्ष 16-17 जुलाई 2019 की रात के दरम्यान चंद्र ग्रहण लगने जा रहा है। खास बात यह है कि यह चंद्र ग्रहण भारत में दिखाई देगा। ग्रहण खण्डग्रास चंद्र ग्रहण होगा। इस चंद्र ग्रहण की अवधि 2 घंटे 59 मिनट रहेगी। देश में यह चंद्र ग्रहण 16-17 जुलाई की रात 1.31 बजे प्रारंभ होकर तड़के 4.30 बजे तक रहेगा। चंद्र ग्रहण में ग्रहण शुरू होने से 9 घंटे पहले सूतक लग जाएगा।
 
इस बार चंद्र ग्रहण और गुरु पूर्णिमा पर्व एक साथ होगा। यह लगातार दूसरी बार है कि गुरु पूर्णिमा पर चंद्र ग्रहण लग रहा है। इससे पहले 27 जुलाई 2018 को गुरु पूर्णिमा पर ही खग्रास चंद्र ग्रहण था। पहले इस ग्रहण की अवधि 3 घंटे 51 मिनट थी। इस बार ग्रहण की अवधि 2.59 मिनट रहेगी। गुरु पूर्णिमा और चंद्र ग्रहण एक साथ होने पर गुरु पूजा का कार्यक्रम भी सूतक लगने से पहले तक ही होंगे। 
 
पंचांग के अनुसार आषाढ़ी पूर्णिमा पर पूर्वाषाढ़ा नक्षत्र, वैधृति योग, विशिष्ट करण और ग्रहण अवधि में चंद्रमा धनु राशि में रहेगा। शनि व केतु पहले से ही धनु राशि में हैं। इनके साथ चंद्रमा के होने से त्रिग्रही युति बनने से मौसम में तेजी से बदलाव दिखाई देगा।
 

चंद्र ग्रहण का राशियों पर असर :
 
मेष- यश और सम्मान की प्राप्ति होगी।
 
वृष- सेहत से जुड़ी कुछ गंभीर परेशानियां आ सकती हैं।
 
मिथुन- मानसिक परेशानियां बढ़ सकती है।
 
कर्क- मुनाफा मिलने की संभावना।
 
सिंह- मन परिवार की चिंता से दुखी रह सकता है।
 
कन्या- धन की हानि होने की संभावना है।
 
 
तुला- मिला-जुला दिन बीतेगा।
 
वृश्चिक- मान-सम्मान में गिरावट आएगी और काम में बाधा पैदा होने के संकेत हैं।
 
धनु- किसी परिचित से विश्वासघात मिलने की संभावना है।
 
मकर- शत्रुओं का भय रहेगा। 
 
कुंभ- सफलता और लाभ प्राप्ति के संकेत।
 
मीन- परिवार में सुख-चैन रहेगा।

ALSO READ: इस वर्ष 16 जुलाई को है गुरु पूर्णिमा, राशि अनुसार गुरु को दिया उपहार आपके लिए होगा शुभ

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख 10 जुलाई को भड़ली नवमी : विवाह बंधन में बंधने का है अबूझ मुहूर्त