Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia

Kanya Sankranti :16 सितंबर को सूर्य का राशि परिवर्तन, राशि अनुसार करें ये उपाय

webdunia
16 तारीख को कन्या राशि में सूर्य प्रवेश कर रहा है। सूर्य इस राशि में 17 अक्टूबर तक स्थित रहेगा। ज्योतिष में इस घटना को 'कन्या संक्रांति' के नाम से जाना जाता है। सूर्य का गोचर सभी राशि के जातकों के लिए शुभाशुभ परिणाम लेकर आएगा... आइए जानते हैं क्या कहती है आपकी राशि...
 
अगर किसी व्यक्ति को सूर्य देव का आशीर्वाद प्राप्त हो जाए तो उसे समाज में मान-सम्मान, पद-प्रतिष्ठा और सरकारी नौकरी आदि प्राप्त होती है। सूर्य के शुभ प्रभाव से सरकारी कामों में सफलता मिलती है। सूर्य के शुभ प्रभाव के कारण ही व्यक्ति के अंदर नेतृत्वकारी गुण विकसित होता है। 
 
सूर्यदेव की कृपा पाने के लिए कन्या राशि के गोचर काल में राशि के अनुसार आसान उपाय कर सकते हैं... 
मेष राशि 
रविवार के दिन सूर्योदय के समय सूर्यदेव की उपासना करें और ॐ घृणि सूर्याय नमः मंत्र का जप करें।
वृष राशि
नित्य सूर्यदेव की पूजा करें और सूर्योदय के समय आदित्य हृदय स्तोत्र का पाठ करें। 
मिथुन राशि
रविवार के दिन लाल-नारंगी रंग के वस्त्र को धारण करें। साथ ही इन्हीं रंगों के कपड़े किसी जरूरतमंद को दान में दें।
कर्क राशि
सूर्योदय के समय नियमित रूप से सूर्य देवता को जल चढ़ाएं। साथ ही रविवार के दिन गुड़ का दान भी करें। 
सिंह राशि
गोचर के दौरान केसरिया रंग के कपड़े ज्यादा पहना करें। खासकर रविवार के दिन तो जरूर धारण करें।
कन्या राशि
रविवार के दिन किसी जरुरतमंद व्यक्ति को गुड़ व चने का दान करें। 
तुला राशि
सूर्य देव का आशीर्वाद पाने के लिए आपको पिताजी की सेवा करनी चाहिए। पिता जी से अच्छे संबंध बनाकर चलें।
वृश्चिक राशि
नित्य सूर्य पूजा के समय अपने माथे पर नारंगी चंदन का तिलक लगाएं और रविवार के दिन नारंगी रंग के वस्त्र को धारण करें।
धनु राशि
नियमित रूप से रोजाना उगते हुए सूरज को जल का अर्घ्य दें और सूर्य को नमन करते समय सूर्य बीज मंत्र का जाप करें। 
मकर राशि
नित्य सूर्योदय के समय सूर्य भगवान की दूध-जल से उपासना करने से आपको सूर्यदेव का आशीर्वाद प्राप्त होगा।
कुंभ राशि
 रविवार के दिन गाय माता को गुड़ खिलाएं और घर के बड़े-बुजुर्गों की सेवा और उनका सम्मान करें। 
मीन राशि
सूर्यदेव की आराधना के समय नित्य ॐ ओम घृणि सूर्याय नमः मंत्र का जाप करें और उगते हुए सूर्य को जल चढ़ाएं।
ALSO READ: Sun transit in virgo : कन्या संक्रांति के क्या होंगे असर, बनेगा बुधादित्य योग

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

सितंबर 2020 : जानिए आश्विन माह के व्रत-तीज-त्योहार और दिवस