कर्ज से तबाह मत होइए, शर्तिया मिलेगा समाधान, पढ़ें 9 काम की बातें

-आचार्य राजेश कुमार
 
तीन चीजें कभी-कभी इंसान को तबाह कर देती हैं, वे हैं- कर्ज, बीमारी और मुकदमा चाहें। गरीब हो या अमीर, हम अपनी मूलभूत आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए कभी न कभी कर्ज जरूर लेते हैं। आज लगभग सभी व्यक्ति कम या अधिक कर्ज से ग्रस्त हैं। यहां तक कि बड़े से बड़ा करोड़पति भी कर्ज जरूर लेता है। कई बार ऐसा देखा गया है कि लाख चाहने के बावजूद कर्ज से मुक्ति नहीं मिल पाती है।
 
ज्योतिष शास्त्र में षष्ठम, अष्टम, द्वादश स्थान एवं मंगल ग्रह को कर्ज का कारक ग्रह माना जाता है। मंगल के कमजोर होने पर या पाप ग्रह से संबंधित होने पर, अष्टम, द्वादश, षष्ठम स्थान पर नीच या अस्त स्थिति में होने पर व्यक्ति सदैव ऋणी बना रहता है। ऐसे में यदि उस पर शुभ ग्रहों की दृष्टि पड़े तो कर्ज तो होता है, पर वह बड़ी मुश्किल से उतर पाता है। शास्त्रों में मंगलवार और बुधवार को कर्ज के लेन-देन के लिए निषेध किया है। मंगलवार को कर्ज लेने वाला जीवनभर कर्ज नहीं चुका पाता।
 
कर्ज कब लें और कब न लें?
 
1. कर्ज कभी भी मंगलवार को या मंगल के नक्षत्र (चित्रा, मृगा और धनिष्ठा) में न लें। आप जो भी कर्ज लें, उसकी प्रथम किस्त मंगलवार से ही वापस करना प्रारंभ करें।
 
2. बृद्धि नामक योग में लिया गया कर्ज कभी समाप्त नहीं होगा अत: बृद्धि योग में कभी भी कर्ज न लें।
 
3. स्थिर लग्न (वृषभ, सिंह, वृश्चिक एवं कुंभ) में भी कभी कर्ज नहीं लेना चाहिए, वरना चाहकर भी कर्ज अदा नहीं होगा। संभव हो तो चर लग्न (मेष, कर्क, तुला और मकर) में ही कर्ज लें।
 
4. बुधवार के दिन आप किसी अन्य को कर्ज कभी मत दें अन्यथा वह पैसा डूब सकता है।
 
5. चौकी पर डेढ़ मीटर सफेद रंग का कपड़ा बिछाएं। पूर्व दिशा की ओर मुंह रखें और 5 गुलाब के फूल लें। अब लक्ष्‍मी मंत्र का जाप करते हुए 1-1 करके गुलाब का फूल सफेद कपड़े पर रखें। इसके पश्‍चात कपड़े को बांधकर किसी बहते जल में प्रवाहित कर दें। यह उपाय 7 शुक्रवार को करें।
 
6. शास्त्रों में मंगलवार और बुधवार को कर्ज के लेन-देन के लिए निषेध किया है। मंगलवार को कर्ज लेने वाला जीवनभर कर्ज नहीं चुका पाता। 
 
7. मंगलवार को शिव मंदिर में जाकर शिवलिंग पर 'ॐ ऋणमुक्तेश्वर महादेवाय नम:' मंत्र बोलते हुए मसूर की दाल चढ़ाएं।
 
8.शनिवार के दिन सुबह स्नान करने के बाद अपनी लंबाई के बराबर काला धागा लेकर उसे 1 नारियल के ऊपर लपेट लें। फिर अपनी नियमित पूजा के साथ इसका भी पूजन करें। पूजा के बाद इस नारियल को भगवान से ऋणमुक्ति के लिए प्रार्थना करते हुए बहते हुए जल में प्रवाहित कर दें। इस छोटे से उपाय से आपको अपनी मेहनत के श्रेष्ठ फल मिलने के योग बनेंगे और आपके ऊपर से शीघ्र ही कर्ज का भार कम होने लगेगा। 
 
9. कर्ज से मुक्ति का रामबाण उपाय गजेन्द्र मोक्ष का पाठ है। शनिवार को ऋणमुक्तेश्वर महादेव का पूजन करें। 
 
(आचार्य राजेश कुमार, दिव्यांश ज्योतिष केंद्र)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अगर गायत्री मंत्र जपते हुए करते हैं यह गलती तो नहीं मिलेगा पुण्य.. पढ़ें 11 काम की बातें