Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

पाक्षिक पंचांग- 9 सितंबर को डोल ग्यारस, 13 से श्राद्ध पक्ष प्रारंभ

webdunia
webdunia

पं. हेमन्त रिछारिया

'वेबदुनिया' के पाठकों के लिए 'पाक्षिक पंचांग' श्रंखला में प्रस्तुत है भाद्रपद शुक्ल पक्ष का पाक्षिक पंचांग-
 
पाक्षिक पंचांग- भाद्रपद शुक्ल पक्ष
 
संवत्सर- परिधावी
संवत्- 2076, शक संवत्- 1941
माह- भाद्रपद
पक्ष- शुक्ल पक्ष (31 अगस्त से 14 सितंबर तक)
ऋतु- शरद
रवि- दक्षिणायणे
गुरु तारा- उदितस्वरूप
शुक्र तारा- अस्तस्वरूप
सर्वार्थ सिद्धि योग- 1 सितंबर, 4 सितंबर, 5 सितंबर, 8 सितंबर
अमृतसिद्धि योग- 1 सितंबर, 4 सितंबर
द्विपुष्कर योग- अनुपस्थित
त्रिपुष्कर योग- अनुपस्थित
रविपुष्य योग- अनुपस्थित
गुरुपुष्य योग- अनुपस्थित
एकादशी- 9 सितंबर (पद्मा एकादशी व्रत)
प्रदोष- 11 सितंबर  
भद्रा- 2 सितंबर (उदय-अस्त), 5 सितंबर (उदय)- 6 सितंबर (अस्त), 9 सितंबर (उदय-अस्त), 13 सितंबर (उदय-अस्त)
पंचक- 11 सितंबर से प्रारंभ
मूल- 6 सितंबर से प्रारंभ-8 सितंबर को समाप्त 
पूर्णिमा- 14 सितंबर 
ग्रहाचार- सूर्य- सिंह, चंद्र- (सवा दो दिन में राशि परिवर्तन करते हैं), मंगल- सिंह, बुध- सिंह (10 सितंबर से कन्या राशि में), गुरु- वृश्चिक, शुक्र- कर्क, शनि- धनु, राहु- मिथुन, केतु- धनु
व्रत/त्योहार- 2 सितंबर- गणेश चतुर्थी (गणेश स्थापना)/ हरितालिका तीज व्रत, 3 सितंबर- ऋषि पंचमी व्रत, 
4 सितंबर- बलदेव षष्ठी/श्रीमहालक्ष्मी व्रत प्रा., 5 सितंबर- संतान सप्तमी/शिक्षक दिवस, 6 सितंबर- श्रीराधा अष्टमी, 9 सितंबर- फूलडोल पर्व (डोल ग्यारस), 13 सितंबर- महालय (श्राद्ध पक्ष प्रारंभ)
 
(निवेदन- उपर्युक्त गणनाओं में पंचांग भेद होने पर तिथियों/योगों में परिवर्तन संभव है।
 
-ज्योतिर्विद् पं. हेमन्त रिछारिया 
प्रारब्ध ज्योतिष परामर्श केंद्र 
संपर्क- [email protected]

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

29 अगस्त 2019 का राशिफल और उपाय