Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

सूर्य, बुध और मंगल 4 राशि पर हैं मेहरबान, हो सकता है लाभ ही लाभ

हमें फॉलो करें webdunia
शनिवार, 9 अक्टूबर 2021 (12:11 IST)
ज्योतिष विद्वानों और पंचांग के अनुसार अक्टूबर माह में 4 ग्रह राशि परिवर्तन कर रहे हैं और 3 ग्रह अपनी चाल बदल रहे हैं। आओ जानते हैं कि वे कौन-कौनसे ग्रह हैं। ऐसे में बहुत उथल-पुथल होने वाली है।
 
 
ये ग्रह करेंगे मार्ग परिवर्तन :
- 11 अक्टूबर सोममवार को शनि ग्रह प्रातस 3:44 पर मकर राशि में मार्गी होगा।
- 18 अक्टूबर सोममवार को बृहस्पति ग्रह सुबह 11:39 पर मकर राशि में मार्गी होगा।
- 18 अक्टूबर सोममवार को बुध रात 8:11 पर कन्या राशि में मार्गी होगा।
 
1. शुक्र : 2 अक्टूबर को शुक्र ग्रह तुला से निकलकर वृश्चिक राशि में गोचर कर रहें हैं जहां वे 30 अक्टूबर तक रहेंगे।
 
2. बुध : 2 अक्टूबर को वक्री बुध ग्रह तुला से लौटकर अपनी कन्या राशि में पहुंच गए हैं। 18 अक्टूबर को वे इसी राशि में मार्गी होंगे। 21 नवंबर को वृश्‍चिक में जाएंगे।
 
3. सूर्य : सूर्य ग्रह 17 सितंबर से कन्या राशि में है। 17 अक्टूबर को दोपहर 1:00 बजे तुला में प्रवेश करेगा जहां वह 16 नवंबर को दोपहर 12 बजकर 49 मिनट तक रहेगा। 
 
4. मंगल : 6 सितंबर से मंगल कन्या राशि में है। मंगल ग्रह 22 अक्टूबर को प्रात: 1 बजकर 13 मिनट पर तुला राशि में गोचर करेगा, जहां वे 5 दिसंबर सुबह 5.01 बजे तक तक रहेगा और इसके बाद वृश्‍चिक में गोचर करेगा।
 
उपरोक्त सभी परिवर्तनों के कारण अब जानते हैं कि सूर्य, बुध और मंगल किन 4 राशियों पर रहेंगे मेहरबान। इस समय सूर्य, बुध और मंगल कन्या राशि में विराजमान हैं। 
 
1. धनु राशि : इससे धनु राशि वाले प्रभावित होंगे। उनके लिए इन ग्रहों का मंगल में रहना बहुत ही शुभ है। इन दौरान धनलाभ, नौकरी और व्यापार में उन्नती और परिवार में खुशियां रहेंगी। हर कदम पर भाग्य साथ देगा। धनु राशि वाले जातकों के लिए यह माह पद-प्रतिष्ठा वाला रहेगा। व्यापार में उतार-चढ़ाव रहेगा। कृषि क्षेत्र में सफलता हासिल होगी। नौकरी में साथियों से परेशानी आएगी। किसी रिश्तेदार से व्यापार में साझेदारी का योग आएगा। ससुराल पक्ष से सहयोग प्राप्त होगा। किसी संस्था से सम्मान प्राप्त होगा। घर पर अशांति का वातावरण हो सकता है, ध्यान दें।
 
2. कन्या : कन्या में यह युति होने से कन्या राशि वाले को भी लाभ मिलेगा। इसके कारण निवेश में लाभ होगा और आर्थिक स्थिति मजबूत होगी। मानसिक चिंताएं कम होगी। नौकरी में प्रमोशन के योग और व्यापार में सुधार होगा। कन्या राशि वाले जातकों के लिए यह माह जीवनसाथी की उन्नति वाला रहेगा। व्यापार ठीक-ठीक रहेगा। कृषि क्षेत्र में मध्यम लाभ मिलेगा। नौकरी में साथियों से सहयोग प्राप्त होगा। माता की तीर्थयात्रा होने के योग हैं। संतान से परेशानी आएगी। आसपास के माहौल में अजीब-सा महसूस होगा। किसी अनजान से धोखा हो सकता है। दोस्त से रास्ते खुलेंगे।
 
3. मेष : मेष राशि वाले जातकों के लिए यह माह संतान सुख वाला रहेगा। व्यापार ठीक-ठीक रहेगा। कृषि क्षेत्र में मध्यम लाभ मिलेगा। नौकरी में साथियों से सहयोग प्राप्त होगा। माता के स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव रहेगा। किसी संस्था से कार्य की जिम्मेदारी सौंपी जा सकती है। आपको पुराने विचारों को लेकर परिवार चलाना कठिन होगा।
 
4. सिंह : सिंह राशि वाले जातकों के लिए यह माह राजनीतिक क्षेत्र में सफलता हासिल करने वाला रहेगा। पार्टी से पद-प्रतिष्ठा प्राप्त हो सकती है। माता के स्वास्थ्य में भी सुधार होगा। ससुराल पक्ष से आर्थिक सहायता प्राप्त होगी। किसी रिश्तेदार से कुछ उलझनें आएंगी। पत्नी की उन्नति में रुकावट आ सकती है। भाई द्वारा हल हो जाएगी।
 
इसका प्रभाव तुला और मकर पर भी माना जा रहा है। तुला राशि के जातकों को अपने विवेक से सभी फैसले लेने की जरूरत है। सूर्य के परिवर्तन के कारण इस राशि के जातकों में आत्मविश्वास में कमी आ सकती है। सूर्य, मंगल और बुध की कर्मभाव में युति बनने से मकर राशि वाले भी प्रभावित होंगे। मकर राशि में पहले से ही शनि विराजमान है।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

तृतीया और चतुर्थी का शुभ संयोग, जानिए कैसे करें पूजा, शुभ मुहूर्त, आरती और प्रसाद