Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

24 जनवरी को जब शनि बदलेंगे अपना घर तो क्या होगा 12 राशियों पर असर

webdunia
माघ मास की मौनी अमावस्या पर सुबह 9.51 बजे शनि का राशि परिवर्तन होने जा रहा है। 29 साल बाद शनि देव अपनी स्वराशि मकर में उनका प्रवेश होगा आइए जानें सब पर क्या असर होगा। 
 
माघ मास की मौनी अमावस्या पर सुबह 9.51 बजे शनि का राशि परिवर्तन होने जा रहा है। 29 साल बाद शनि देव अपनी स्वराशि मकर में प्रवेश करेंगे। शनि इसी राशि के स्वामी हैं। अर्थात उनकी अपने घर में वापसी होगी, जिसमें वह ढाई साल रहेंगे। इसके बाद उनका कुंभ राशि में प्रवेश होगा। अभी व धनु राशि में हैं। 
 
शनि एक राशि में करीब ढाई साल विचरण करते हैं। यह स्वराशि में अधिक बलवान रहेंगे। इन्हें देवों में जज का दर्जा है, इसलिए न्याय प्रणाली और अधिक मजबूत होगी, वहीं उद्योग में तेजी आएगी, पर निर्माण कार्यों में मंदी बनी रहेगी। इसकी वजह यह है कि कारखानों व उद्योग धंधों पर शनि का प्रभुत्व रहता है, जबकि उसकी गति मंद होने से निर्माण में देरी होती है।
 
देवों में न्यायाधीश शनि का राशि परिवर्तन... वृषभ और कन्या राशि से खत्म होगी ढैय्या, कुंभ राशि पर शुरू होगी साढ़े साती
 
जातक की राशि के 12वें, पहले व दूसरे भाव में शनि की स्थिति साढ़े साती कहलाती है
 
मकर राशि वाले जातकों को अच्छे व कुंभ वालों को मिश्रित परिणाम मिलेंगे। 
 
शनि के मकर राशि में पहुंचने से वृश्चिक राशि शनि की साढ़े साती से मुक्त होगी और इसके जातकों के काम बनने लगेंगे, जबकि कुंभ राशि पर साढ़े साती शुरू होगी। वृषभ व कन्या ढैया से मुक्त होंगे परंतु मिथुन व तुला पर शनि की ढैया रहेगी। जातक की राशि के 12वें, पहले व दूसरे भाव में शनि की स्थिति साढ़े साती कहलाती है। मकर राशि के लोगों को ज्यादातर अच्छे व कुंभ राशि वालों को मिश्रित परिणाम मिलेंगे।
 
उपाय- शनिवार को ओम श शनैश्चराय नम: मंत्र का जाप करें। हनुमान व शिव की पूजा, वृद्ध, नेत्रहीन व दिव्यांगों की सेवा और तिल, तेल, वस्त्र व सप्तधान जरुरतमंदों को दें। शनि मंदिर में दीपक जलाएं व पीपल की जड़ में जल अर्पित करें। नाव से निकली कील या घोड़े की नाल से बना छल्ला पंडित की सलाह से पहनें।
 
परिवर्तन का असर
 
धर्म व अध्यात्म के क्षेत्र में लंबित काम पूरे होंगे। पेट्रोल, सोना, चांदी, लोहा के दाम बढ़ेंगे, खाद्यान सामग्री के भावों में गिरावट आएगी। कृषि क्षेत्र में उन्नति व नए प्रयोग सामने आएंगे। राजनीतिक लोगों में विद्वेष बढ़ेगा, लेकिन कई क्षेत्रीय दलों का प्रभुत्व बढ़ेगा। भारत की सीमाओं पर तनाव बरकरार रहेगा। जिन राशियों में शनि अच्छे भाव में है, वे रोग मुक्त होंगे और रोजगार के अवसर मिलने लगेंगे।
राशियों पर प्रभाव
मेष : प्रतिष्ठा में वृद्धि, स्थान परिवर्तन,
वृषभ : रुके काम पूरे होंगे, संतान सुख, 

मिथुन : आर्थिक हानि,

कर्क : स्वास्थ्य में गड़बड़ी, 

सिंह : शत्रुता समाप्त होगी, 

कन्या-धन हानि पर काम बनेंगे,

तुला : गृह कलह, तनाव, 

वृश्चिक : सुख-संतोष, 

धनु : वाहन सावधानी से चलाएं, 

मकर : आर्थिक उन्नति, कार्यों में विलंब, 

कुंभ : धन की आवक बढ़ेगी, अपव्यय होगा, 

मीन : मांगलिक कार्य होंगे।


Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

हिन्दू कैलेंडर के पांच भेद, जानिए इसकी वैज्ञानिकता के बारे में