फिल्म 'मिशन मंगल' के बारे में 11 खास बातें

1. फिल्म 'मिशन मंगल' में अक्षय कुमार इंडियन स्पेस रिसर्च ऑर्गनाइजेशन (इसरो) के एक सीनियर साइंटिस्ट राकेश धवन का किरदार निभा रहे हैं।


2. 'मिशन मंगल' सच्ची घटना पर आधारित है। यह फिल्म उन लोगों पर बनी है जिन्होंने इंडिया के 'मिशन मंगल' को कामयाब बनाया।

3. फिल्म की कहानी 2013 में इसरो द्वारा मार्स ऑर्बिटर मिशन पर आधारित है। मार्स ऑर्बिटर मिशन के तहत मंगल यान 5 नवंबर 2013 के दिन इसरो ने लॉन्च किया था।
4. 'मिशन मंगल' हिन्दी के अलावा मराठी भाषा में भी रिलीज हो रही है।

5. अक्षय ने इस फिल्म के लिए अपनी फीस लेने के बजाय प्रॉफिट शेयरिंग ली है, वर्ना आमतौर पर उनकी फीस ही 28 से 42 करोड़ के बीच रहती है।
6. चर्चा थी कि फिल्म में अक्षय कुमार लीड रोल में न होकर स्पेशल अपीयरेंस में दिखेंगे और पूरी फिल्म में उनका रोल कुल मिलाकर करीब 25 मिनट ही है।

7. 'मिशन मंगल' की कहानी रचने की प्रेरणा 2016 की हॉलीवुड फिल्म 'हिडन फिगर्स' से ली गई है। हिडन फिगर्स अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा की अश्वेत महिला गणितज्ञ-वैज्ञानिकों की सच्ची कहानी थी।

8. इस फिल्म में अक्षय कुमार के साथ 5 अभिनेत्रियां मुख्य किरदार निभाती नजर आएंगी।
9. 'मिशन मंगल' महिला सशक्तीकरण पर आधारित है। खास बात यह है कि फिल्म की अभिनेत्रियां सोनाक्षी सिन्हा, तापसी पन्नू, विद्या बालन और कीर्ति कुल्हारी महिला सशक्तीकरण पर आधारित फिल्मों या वेब सीरीज में पहले भी काम कर चुकी हैं।

10. वहीं नित्या मेमन की यह डेब्यू फिल्म हैं, लेकिन 'मिशन मंगल' से पहले वे साउथ की एक और फिल्म साइन कर चुकी हैं, जो तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता के जीवन पर आधारित है।

11. अक्षय कुमार अक्सर फिल्में पूरी स्क्रिप्ट पढ़ने के बाद साइन करते हैं, लेकिन 'मिशन मंगल' उन्होंने पूरी स्क्रिप्ट पढ़े बिना ही साइन कर दी थी।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख दबंग 3 के सेट पर बैन हुए स्मार्टफोन, इस वजह से सलमान खान ने दिया सख्त निर्देश