लॉकडाउन में टीवी स्टार्स इस तरह कर रहे समय का सदउपयोग

रूना आशीष

सोमवार, 11 मई 2020 (18:59 IST)
एकता कपूर जो भी करती हैं वो कुछ अलग ही होता है। हाल ही में एकता ने नया बिग बॉस बनाया है जहां उन्होंने एक साथ कई कलाकारों को मिला कर बिग बॉस का रूप दिया है। जहां एक साथ कई सितारे मिल कर आते हैं। ठीक बिग बॉस के तर्ज पर अपने-अपने घर से अपनी ज़रूरतों का सामान एक सूटकेस में ले कर आते हैं।

 
और जैसे ही घर में काम करने की बारी आती है तो सभी कलाकार अपना-अपना पल्ला झाड़ने लगते हैं। इसी वीडियो को लेकर एक वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस रखी गई। जिसमें कई पत्रकारों ने जूम एप के जरिए हिस्सा लिया। वेबदुनिया ने कई कलाकारों से वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस में बात की पेश हैं उसके कुछ अंश...
 
वेबदुनिया ने कुछ कलाकारों से पूछा कि वो इस समय में क्या नया सीख रहे हैं तो जवाब कुछ इस तरह से मिले। 'कहां हम कहां तुम' के करण वी ग्रोवर ने कहा कि मैं आइसक्रीम बनाना सीख रहा हूं। उन्होंने आम के कुछ और भी पकवान बनाना सीखे हैं।

ALSO READ: कोरोना वायरस से जंग जीतकर संक्रमितों की मदद के लिए आगे आईं जोया मोरानी, डोनेट किया प्लाज्मा
 
वहीं 'भाभीजी घर पर है' में काम करने वाले रोहिताश गौर का कहना है कि वो अपनी बेटियों के साथ रोजाना कुछ नया कर रहे हैं। हाल ही में उन्होंने अपनी बेटियों के साथ एक वीडियो शूट किया जिसमें उनकी बेटी ने पड़ोसन की भूमिका निभाई है।
 
पाठकों को बता दें कि शो 'भाभीजी घर पर हैं' में रोहिताश एक ऐसे शख्स बने हैं जो अपनी हायफाय पड़ोसन पर डोरे डालने की पूरी कोशिश करते रहते हैं हालांकि उनकी दाल कभी भी नहीं गलती।
 
'तुझसे है राब्ता' की लीड रीम अभी पढ़ाई कर रही हैं ऐसे में वेबदुनिया ने उनकी पढ़ाई के बारे में पूछने पर रीम ने कहा कि मैं बचपन से सीरियल में काम करती रही हूं तो ऑनलाइन क्लासेस करना मेरे लिए नया नहीं है। हां अब ये क्लासेस घर पर करनी हैं किसी सेट पर नहीं तो कोई भी नई बात नहीं लगती। बल्कि हमेशा से ऑनलाइन पढ़ाई करते रहने की आदत ने उन्हें और भी ज्यादा कॉन्सेंट्रेशन के साथ पढ़ना सिखाया है।
 
'तारक मेहता का उल्टा चश्मा' में तारक का रोल करने वाले शैलेंद्र लोढ़ा असल ज़िंदगी में एक जाने माने कवि हैं तो उन्होंने बताया कि वो इस समय को बहुत सकारात्मक रूप से ले रहे हैं पहले कई बार समय की कमी तो कभी शूट की थकावट की वजह से वो कविताएं लिखने पर उतना ध्यान नहीं दे पाते जितना कि देना चाहते थे।

लेकिन इस समय में खूब मज़े से कविताएं लिख रहे हैं और प्रकृति भी उनका साथ निभा रही है क्योंकि यातायात बंद है आसपास किसी तरह का शोर नहीं है और इसके चलते चिड़िया की आवाज़ें दिन भर आती रहती हैं। उनके चहचहाट से मन खुश रहता है और कविता रचने का आनंद दुगना बोल जाता है।
 
वेबदुनिया ने 'भाभीजी घर पर हैं' कि निर्माता बेनाइफर कोहली से पूछा कि जब शूट नहीं हो रही तो वो क्या करती हैं? कैसे समय बिताती हैं?
 
इस पर बेनाइफर ने कहा कि हम पर हमेशा दबाव रहता है कि सीरियल सही शूट हो, सही समय पर टेलीकास्ट हो और टीआरपी में भी अव्वल बना रहे। ऐसे में जब सब काम काज बंद हैं तो मुझे समय मिल रहा है कि मैं शो की क्वालिटी बढ़ाने पर और अपने दर्शकों तक और भी अच्छा एपिसोड पहुंचा सकूं। 
 
उन्होंने कहा, मैं अपने शो के राइटिंग पर ध्यान दे पा रही हूं। इस दौरान कुछ लेखकों के साथ मिल कर मैं दो से तीन और भी शोज फाइनल कर रही हूं। जैसे ही लॉकडाउन खुले वैसे ही इन शोज़ को पर्दे पर लाने की क़वायद शुरु करूंगी तो कुल मिलाकर लॉकडाउन मुझे वो समय दे रहा है जिसमें मुझे सोचने और अच्छा काम करने का समय मिल रहा है।
 
इन सभी कलाकारों में कुछ बाते समान लगीं। सभी अपने अपने सेट पर तो लौटना चाहते हैं लेकिन कोई भी अपने सेट के छोटे से छोटे और किसी भी शख्स की सेहत को लेकर पूरी तरह से सजग हैं। वो हर हालत में कोविड को हराना चाहते हैं। इसके लिए ये सारे कलाकार कोई कोताही नहीं बरतना चाहते।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Ramayan की शूटिंग के दौरान जल गए थे ‘मंथरा’ ललिता पवार के पैर, फिर भी जारी रखी थी शूटिंग