Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बॉलीवुड के इन गानों के बिना अधूरा है रक्षा बंधन का त्योहार

webdunia
रविवार, 22 अगस्त 2021 (07:05 IST)
रूपहले पर्दे पर भाई-बहन के अटूट स्नेह को प्रदर्शित करने वाले त्योहार रक्षा बंधन के गीतों ने कभी लंबे समय तक सिने प्रेमियों के दिलों पर अपनी अमिट छाप छोड़ी थी लेकिन अब तो बालीवुड के फिल्मकारों ने राखी पर आधारित गीतों के महत्व को भुला ही दिया है।


निर्माता एल वी प्रसाद की 1959 में रिलीज फिल्म 'छोटी बहन' संभवतः पहली फिल्म थी, जिसमें भाई-बहन के प्यार भरे अटूट रिश्ते को रूपहले पर्दे पर दिखाया गया था। इस फिल्म में बलराज साहनी ने बड़े भाई और नन्दा ने छोटी बहन की भूमिका निभाई थी। शैलेन्द्र का लिखा और लता मंगेशकर द्वारा गाया फिल्म का गीत 'भईया मेरे राखी के बंधन को निभाना' बेहद लोकप्रिय हुआ था। रक्षा बंधन के गीतों में इस गीत का विशिष्ट स्थान आज भी बरकरार है।

इसके बाद निर्माता-निर्देशक ए. भीम सिंह ने भाई-बहन के रिश्ते पर आधारित दो फिल्में राखी और भाई बहन बनाई। 1962 में रिलीज राखी में अशोक कुमार और वहीदा रहमान ने भाई-बहन की भूमिका निभायी थी। साल 1968 में रिलीज भाई-बहन में सुनील दत्त और नूतन मुख्य भूमिकाओं में थे।
 
webdunia
इसी दौर में अनपढ़ और काजल फिल्म में भाई-बहन के पवित्र प्रेम पर दो खूबसूरत गीत पेश किए गए। इनमें अनपढ़ का माला सिन्हा पर लता मंगेशकर की आवाज में फिल्माया गीत 'रंग बिरंगी राखी लेकर आई बहना' आज भी दर्शकों और श्रोताओं को अभिभूत कर देता है। फिल्म में बलराज साहनी भाई की भूमिका में थे।

फिल्म काजल में मीना कुमारी पर बेहद खूबसूरत गीत 'मेरे भइया मेरे चंदा मेरे अनमोल रतन' का फिल्मांकन किया गया था। रवि के संगीत निर्देशन में इस गीत को पार्श्वगायिका आशा भोंसले ने स्वर दिया था।
 
विमल राय की बंदिनी में भी एक बेहद मार्मिक गीत था, जिसमें बहन अपने पिता से भाई को सावन में भेजने का अनुरोध करती है 'अब के बरस भेज भइया को बाबुल सावन में दीजो बुलाय रे।' बहन की व्यथा को बतलाने वाले शैलेन्द्र का लिखे और एस डी बर्मन के स्वरबद्ध किए इस गीत को भी आशा भोंसले ने अपना कर्णप्रिय स्वर दिया था।

साल 1971 में रिलीज हरे रामा हरे कृष्णा में देवानन्द और जीनत अमान ने भाई-बहन की भूमिका निभाई थी। फिल्म का गीत 'फूलों का तारों का सबका कहना है एक हजारों में मेरी बहना है' आज भी सदाबहार गीतों में शामिल है। फिल्म रेशम की डोरी में सुमन कल्याणपुर का गाया 'बहना ने भाई की कलाई से प्यार बांधा है' रक्षा बंधन पर आज भी खूब बजता है।
 
इसी तरह फिल्म बेईमान का 'ये राखी बंधन है ऐसा' सच्चा झूठा का 'मेरी प्यारी बहनिया बनेगी दुल्हनियां', चम्बल की कसम का 'चंदा रे मेरे भइया से कहना', प्यारी बहना का 'राखी के दिन', हम साथ साथ हैं का 'छोटे-छोटे भाइयों के', तिरंगा का 'इसे समझो न रेशम का तार', रिश्ता कागज का 'ये राखी की लाज तेरा भइया निभायेगा' आदि गीत भी काफी लोकप्रिय हुए।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

आईएफएफएम 2021 : 'द फैमिली मैन 2' के लिए मनोज बाजपेयी को मिला बेस्ट एक्टर अवॉर्ड