Exclusive Interview : सलमान की अगली फिल्म भारत तोड़ देगी सभी का रिकॉर्ड - रणवीर सिंह

"मैं सुबह सुबह भजन सुनता हूँ। मुझे मालूम है आप ये बात मानेंगे नहीं, लेकिन मुझे हर समय संगीत अपने साथ चाहिए। मैं तो अपने बूम बॉक्स के बग़ैर कहीं जाता भी नहीं हूँ। मैं तैयार होते समय संगीत सुनता हूँ तो कभी गाड़ी में सुनता हूँ।" फिल्म 'गली बॉय' में रैपर की भूमिका निभाने वाले रणवीर सिंह खुद मानते हैं कि गायकी एक बहुत अलग कलाकारी है। 
 
बात आगे बढ़ाते हुए रणवीर कहते हैं कि "मैं रैप कर लेता था जो पहले भी मैंने कभी किसी फिल्म में किया है। अब जब अपना टाइम या असली हिप हॉप या दूरी जैसे गाने आते हैं और वो चार्ट पर टॉप करते हैं तो मेरे जैसे के लिए ये बहुत बड़ी बात है। मेरे अंदर शायद एक रैप आर्टिस्ट है जिसे जोया ने पहचाना।"
 
आपकी और दीपिका की संगीत के मामले में चॉइस एक जैसी है?
बिल्कुल नहीं। मुझे भारी-भरकम आवाज़ वाले गाने पसंद हैं। अडरग्राउंड म्यूज़िक जिसे कहते हैं मुझे वो बहुत पसंद है जबकि उन्हें ज़रा सॉफ्टर संगीत पसंद है। फिर भी दीपिका और मुझे कई आर्टिस्ट एक साथ सुनना पसंद है जैसे कोल्डप्ले हम दोनों पसंद करते हैं। 
 
कभी आपने अपने आप को कहा ‍कि अपना भी टाइम आएगा? 
मेरा टाइम अभी आया नहीं है अब आने वाला है या कहिए अब आएगा। अभी तो सिर्फ शुरुआत है मेरी। कुछ साल पहले मैं फिल्म इंडस्ट्री में पैर जमाने की कोशिश कर रहा था तो वो रिसेशन का समय था। कोई भी फिल्म नए लड़के को ले कर फिल्म नहीं बना रहा था। तब मैं अपने आप से कहता था कि मेरा भी टाइम आएगा क्योंकि मुझमें वो बात है। 
 
देश में आज भी कई लोग गली बॉय की ही तरह किस्मत आज़माने मुंबई आ जाते हैं? 
मैं उन्हें कहूंगा कि ये  सब आसान नहीं है। आप सब कुछ छोड़ कर आते हैं, मैं तो यहीं का था फिर भी मुझे बहुत स्ट्रगल करना पड़ा। मेरे पास भी वो दिन थे जब कोई काम नहीं था। मेरे घर में भी वो दिन आए जब परिवार की माली हालत ठीक नहीं थी। हर परिवार ऐसी स्थिति से गुज़रता है और मैं भी गुज़रा हूँ। इस शहर में आ कर बसना आसान नहीं है। 
 
आप हमेशा एक्टर ही बनना चाहते थे?
मैं तो बहुत कुछ बनना चाहता था। गिटार आईने के सामने लेकर सोचता था कि रॉक स्टार सेंटर बन जाऊं। जब सीडी जैसी चीज़ें नहीं आईं थीं तो कैसेट में इन-ले कार्ड में बोल पढ़ कर गाने गाता था। घर में एक छोटा-सा गलियारा था। उसके एक छोर पर कुर्सी लगा कर बॉलिंग की प्रैक्टिस करता था, लेकिन अब एक्टर बन गया। इसमें भी एक बात है वो ये कि मैं एक्टर बनने के साथ सब बन सकता हूँ। मैं गाने स्टूडियो में जाकर रिकॉर्ड करता हूँ या फिर अगली फिल्म में वाक़ई में मैं लॉर्ड्स में जा कर बॉलिंग करूंगा या सुबह उठ कर क्रिकेट खेलने जाऊंगा। अभिनेता बनने का ये फायदा मुझे होता है। 
 
तीनों खान की फ़िल्में नहीं चली, तो क्या मान लिए जाए कि सुपरस्टार की नई खेप तैयार है? 
मुझे खुशी है कि मेरी फ़िल्में चल रही हैं लेकिन मैं ये कभी नहीं कह सकूंगा कि मेरी तुलना खान्स के साथ हो। मैं पिछले कुछ साल से हूँ लेकिन वो तो दो दशक से ज़्यादा समय से काम कर रहे हैं। इतने समय तक उन्होंने अपने सुपर स्टारडम को बरकरार रखा है। वो ड्राइविंग फ़ोर्स रहे हैं। कोई तुलना संभव ही नहीं है मेरी या मेरे जैसे नए लड़को की इन लोगों के से। कभी-कभी होता है कि फिल्म नहीं चल पाती है या ये कहूंगा कि ‍मेरी फिल्में बायचांस चल गई हैं। सलमान साहब की अगली फिल्म भारत चलेगी और रिकॉर्ड तोड़ कर रख देगी। 

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख रणवीर-आलिया की गली बॉय की बॉक्स ऑफिस पर कैसी है ओपनिंग?