छत्तीसगढ़ में 27% विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज, रिपोर्ट से खुलासा

शनिवार, 15 दिसंबर 2018 (11:30 IST)
रायपुर। छत्तीसगढ़ के 90 विधायकों में से 24 विधायकों के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं। इनमें से 13 के​ खिलाफ गंभीर अपराधों के मामले हैं। छत्तीसगढ़ इलेक्शन वाच और एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) की रिपोर्ट के अनुसार इस विधानसभा चुनाव में चुने गए 90 विधायकों में से 24 विधायकों (27 फीसदी) के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज हैं।


रिपोर्ट के अनुसार 24 में से 13 (14 फीसदी) विधायकों के खिलाफ गंभीर किस्म के अपराध दर्ज हैं। यह रिपोर्ट उम्मीदवारों द्वारा नामांकन दाखिल करने के दौरान दी गई जानकारी के आधार पर है। उम्मीदवारों द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार कांग्रेस के 68 विधायकों में से 19 (28 फीसदी) विधायकों ने अपने खिलाफ अपराध दर्ज होने की जानकारी दी है।

वहीं भाजपा के चुने गए 15 विधायकों में तीन (20 फीसदी) विधायकों ने अपराध दर्ज होने की जानकारी दी है। वहीं जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के पांच विधायकों में से दो विधायकों ने स्वयं के खिलाफ आपराधिक मामले दर्ज होने की जानकारी दी है। रिपोर्ट के अनुसार कांग्रेस के 12 विधायकों ने तथा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के एक विधायक ने स्वयं के खिलाफ गंभीर प्रकृति के अपराध दर्ज होने की जानकारी दी है।

रिपोर्ट के अनुसार बेमेतरा सीट से कांग्रेस के विधायक आशीष छाबरा के खिलाफ हत्या के प्रयास का मामला दर्ज है। वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष और पाटन सीट से विधायक भूपेश बघेल के खिलाफ सरकारी कर्मचारी को अपने कार्य से रोकने और आपराधिक षड्यंत्र का मामला दर्ज है। इसके अलावा जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) के बलौदाबाजार क्षेत्र के विधायक प्रमोद कुमार शर्मा के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज है।

रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2013 में हुए चुनाव के दौरान 90 में से 15 (17 फीसदी) विधायकों ने आपराधिक मामला दर्ज होने की जानकारी दी थी। इनमें से आठ विधायकों के खिलाफ गंभीर प्रकृति का अपराध दर्ज था। इस वर्ष हुए चुनाव में कांग्रेस ने 68 सीटों पर, भाजपा ने 15 सीटों पर, जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ (जे) ने पांच सीटों पर तथा बहुजन समाज पार्टी ने दो सीटों पर जीत ​हासिल की है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख मध्यप्रदेश : शिवराज के 'तिलिस्म' को तोड़ने के लिए कमलनाथ ने तैयार की थी यह खास रणनीति, पढ़ें विशेष रिपोर्ट