जशपुर में 'पुल नहीं तो मतदान नहीं' का लगा बोर्ड

सोमवार, 5 नवंबर 2018 (18:50 IST)
पत्थलगांव। छत्तीसगढ़ के जशपुर जिले में बगीचा विकासखंड अंतर्गत 2 गांवों के सैकड़ों लोगों ने सोमवार को कन्हर नदी पर पुल निर्माण की पुरानी मांग की अनदेखी करने से क्षुब्ध होकर इस बार चुनाव में मतदान का बहिष्कार करने का निर्णय लिया है।
 
 
बगीचा ब्लॉक में ग्राम पंचायत बेड़ेकोना इचौली और सरनाटोली के मतदाताओं ने सोमवार को नदी के समीप एकत्रित होकर एक स्वर में पुल नहीं बनने पर चुनाव का बहिष्कार के नारे लगाते हुए विरोध प्रदर्शन किया। ग्रामीणों ने अपने विरोधस्वरूप रैली व नारेबाजी करते हुए गांव के प्रवेश पर 'पुल नहीं तो वोट नहीं' का बोर्ड भी लगा दिया है।
 
आवागमन की परेशानी झेल रहे दोनों गांवों के ग्रामीणों ने सोमवार को एकजुट होकर चुनाव का बहिष्कार करने के निर्णय से स्थानीय प्रशासन को लिखित शिकायत देकर अवगत करा दिया है।
ग्रामीण बता रहे थे कि पुल नहीं होने की वजह के उन्हें समय पर स्वास्थ्य सुविधा नहीं मिल पाती है।
 
ग्रामीणों ने बताया कि पुल के अभाव में गांव के मरीजों को चारपाई पर उठाकर नदी पार कराया जाता है। कई बार चिकित्सा सुविधा में देर होने से मरीजों का जान भी चली जाती है। बरसात के दिनों में नदी में बाढ़ आने पर कई मवेशी भी बह जाते हैं और इस जटिल समस्या के चलते ही स्कूली बच्चे भी नदी पार कर नियमित स्कूल जाने से वंचित रह जाते हैं।
 
इस बार मतदान का विरोध करने वाले ग्रामीणों ने बताया कि हमने पुल की मांग को लेकर पहले भी कई बार लोक सुराज शिविर, कलेक्टर जनदर्शन में आवेदन किया है, परंतु अब तक किसी प्रकार की कोई सुनवाई नहीं हो पाई है जिस कारण अब लोगों ने विधानसभा चुनाव का बहिष्कार करने का मन बना लिया है।

वेबदुनिया पर पढ़ें

सम्बंधित जानकारी

विज्ञापन
जीवनसंगी की तलाश है? तो आज ही भारत मैट्रिमोनी पर रजिस्टर करें- निःशुल्क रजिस्ट्रेशन!

अगला लेख यूपीसीए का उत्साह कहीं इकाना पर न पड़ जाए भारी