Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

देश में 60 फीसदी Corona मरीज 5 राज्यों में, ठीक होने की दर 78 प्रतिशत

webdunia
सोमवार, 14 सितम्बर 2020 (16:49 IST)
नई दिल्ली। स्वास्थ्य मंत्रालय ने सोमवार को बताया कि देश में कोरोनावायरस (Coronavirus) के उपचाराधीन मरीजों में से 60 फीसदी से ज्यादा महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में हैं। वहीं देश में संक्रमण से ठीक होने की दर 78 प्रतिशत हो गई है।

मंत्रालय के आंकड़ों के मुताबिक, भारत में कोविड-19 के 92,071 नए मामले सामने आने के बाद कुल मामलों की संख्या बढ़कर 48.46 लाख हो गई है, जबकि 37.80 लाख लोग बीमारी से ठीक हो चुके हैं। संक्रमण से 1,136 और मरीजों की मौत होने के साथ ही मृतक संख्या बढ़कर 79,722 हो गई है।

मंत्रालय ने एक बयान में कहा कि भारत में संक्रमण से ठीक होने की तेज़ी से बढ़ती दर ने सोमवार को एक मील का पत्थर पार कर लिया।  मंत्रालय के मुताबिक, एक दिन में 77,512 मरीजों को अस्पताल से छुट्टी दी गई और ठीक हुए मामलों और उपचाराधीन मामलों के बीच अंतर लगातार बढ़ रहा है और यह अब 27,93,509 हो गया है। देश में इलाज करा रहे मरीजों की संख्या 9,86,598 है।

बयान में कहा गया है कि संक्रमण का इलाज करा रहे कुल मरीजों में से 60 फीसदी से अधिक मरीज पांच राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, उत्तर प्रदेश और तमिलनाडु में हैं। ठीक होने वाले कुल मरीजों में 60 फीसदी भी इन्हीं राज्य से हैं।

मंत्रालय ने बताया कि कुल मामलों में से 60 फीसदी मामले पांच राज्यों महाराष्ट्र (21.9 प्रतिशत), आंध्र प्रदेश (11.7 प्रतिशत), तमिलनाडु (10.4 प्रतिशत), कर्नाटक (9.5 प्रतिशत) और उत्तर प्रदेश (6.4 प्रतिशत) से है। उसने कहा कि 92,071 नए मामलों में से महाराष्ट्र में एक दिन में सामने आए 22,000 से अधिक नए मामले शामिल हैं जबकि आंध्र प्रदेश के 9,800 से अधिक नए मरीज सोमवार को सामने आए मामलों में शामिल हैं।
सोमवार को रिपोर्ट हुई 1,136 मौतों में से करीब 53 फीसदी की मृत्यु तीन राज्यों महाराष्ट्र, कर्नाटक और उत्तर प्रदेश में हुई हैं। इसके बाद तमिलनाडु, पंजाब और आंध्र प्रदेश हैं। आईसीएमआर ने बताया कि 13 सितंबर तक 5,72,39,428 नमूनों की जांच की गई है। रविवार को 9,78,500 नमूनों की जांच की गई।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

फाइजर की Corona वैक्सीन कितनी प्रभावी, अक्टूबर में चलेगा पता