Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

‘एस्ट्राजेनेका’ की वैक्सीन लेने के बाद जमे खून के थक्के, 7 की मौत, आखि‍र क्‍या है माजरा?

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
रविवार, 4 अप्रैल 2021 (15:46 IST)
ब्रिटेन में ऑक्सफोर्ड की एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन को लेकर एक चौंका देने वाली खबर सामने आई है। देश में एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन लेने के बाद 7 लोगों की मौत हो गई, जबकि 23 लोग गंभीर रूप से बीमार है।

ब्रिटेन के चिकित्सा नियामक ने शनिवार को कहा कि जिन 30 लोगों को ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन देने के बाद रक्त का थक्का की शिकायत आई थी, उनमें से 7 लोगों की मौत हो गई है। ऐसे ही कई मामलों के बाद कई यूरोपीय देशों ने इस वैक्सीन पर अस्थायी रोक लगाई थी।

बता दें कि हाल ही में कुछ यूरोपीय देशों ने ऑक्सफोर्ड की एस्ट्राजेनेका की वैक्सीन के इस्तेमाल पर रोक लगा दर थी, क्योंकि वैक्सीन के लेने के बाद लोगों मे खून के थक्के जमने की शिकायत आने लगी थी। यूके की मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी ने अपने एक बयान में कहा कि 24 मार्च तक 30 मामलों में से 7 लोगों मृत्यु हो चुकी है।

इससे पहले नीदरलैंड ने महिलाओं में पांच नये केस ऐसे मिले, जिसमें एक की मौत के बाद 60 साल के उम्र के नीचे के लोगों के लिए शुक्रवार को एस्ट्राजेनेका टीके के वैक्सीनेशन पर रोक लगा दी गई थी। वहीं, जर्मनी ने इस हफ्ते की शुरुआत में इसी तरह का निर्णय लिया था।

यूरोपीय मेडिसिन्स एजेंसी (EMA), जिसने विश्व स्वास्थ्य संगठन की तरह पहले ही एक्ट्राजेनेका वैक्सीन को सुरक्षित बता चुका है, उससे उम्मीद की जाती है कि वो इस मुद्दे पर 7 अप्रैल को ताजा सलाह देगी। इससे पहले बुधवार को ईएमए ने कहा था कि टीका सुरक्षित है और विशेषज्ञों ने जैसे आयु, लिंग या मेडिकर हिस्ट्री में कोई विशिष्ट जोखिम कारक नहीं पाया।

यूके में जून 2020 में ऑक्सफोर्ड-एस्ट्राजेनेका की 100 मिलियन डोज ऑर्डर किया गया था। इसी साल देश में फाइजर-बायोएनटेक वैक्सीन की 30 मिलियन खुराक का भी ऑर्डर दिया गया था।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
ममता बोलीं- पीएम मोदी क्या भगवान या ‘महामानव’ हैं जो नतीजों की भविष्यवाणी कर रहे हैं...