Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

बड़ी खबर, मुंबई में कोरोना ने पकड़ी रफ्तार, मंत्री ने दिए लॉकडाउन के संकेत

हमें फॉलो करें webdunia
बुधवार, 24 फ़रवरी 2021 (09:57 IST)
मुंबई। देश की आर्थिक राजधानी मुंबई में बढ़ते कोरोना के मामलों को देखते हुए एक बार फिर लॉकडाउन लगाया जा सकता है। महाराष्‍ट्र सरकार में मंत्री असलम शेख ने इस बात के संकेत दिए।
 
फरवरी में मुंबई में लगातार कोरोना के मरीजों की संख्या बढ़ रही है। मुंबई में मरीजों की संख्या में औसतन 0.22% तक वृद्धी देखी जा है। इससे प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। इसी के मद्देनजर मुंबई के संरक्षक मंत्री असलम शेख ने नागरिकों से कोरोना गाइडलाइंस का पालन करने की अपील की है। उन्होंने इस बात के संकेत दिए हैं कि स्थिति बिगड़ने पर मुंबई में फिर से लॉकडाउन लगाया जा सकता है।
 
फिलहाल मुंबई में इमारतों में रहने वालों में कोरोना का प्रसार देखा जा रहा है। इसके तहत एक भी कोरोना पॉजिटिव पाए जाने पर पूरे परिवार की जांच की जा रही है। रिपोर्ट के अनुसार परिवार के अन्य सदस्य प्रभावित हो रहे हैं।
 
उल्लेखनीय है कि दिसंबर के बाद मुंबई में मरीजों की संख्या में गिरावट आई थी। यह आंकडा 0.12 फीसदी पर स्थिर था। परंतु चिंताजनक रूप से, मुंबई के कुछ हिस्सों में, अब दर 0.30 प्रतिशत से भी ऊपर है। इसलिए प्रशासन की नींद उड़ गई है।
 
कैबिनेट मंत्री असलम शेख ने कहा कि हमें स्वीकार करना होगा कि रोगियों की संख्या बढ़ रही है। लोग अपील को नहीं सुनते। अब हमने कार्रवाई भी शुरू कर दी है। शादी के लिए 50 लोगों की उपस्थिति की अनुमति है। लेकिन, वास्तव में 300 से 400 लोगों को आमंत्रित किया जाता है। ऐसे लोगों के खिलाफ कार्रवाई शुरू कर दी गई है। नाइट क्लब के खिलाफ भी कार्रवाई शुरू कर दी गई है।
 
उन्होंने कहा कि सरकार ने नियम बनाए हैं, लेकिन उन रेस्तरां के खिलाफ भी कार्रवाई की है जो ग्राहकों को 50 प्रतिशत से अधिक की अनुमति देते हैं। उनके लाइसेंस निरस्त किए जाएंगे। एक सरकार के रूप में, हम वह कर रहे हैं जो हम कर सकते हैं। हालांकि, अगर मुंबईकर फिर से लॉकडाउन नहीं देखना चाहते हैं, तो उन्हें खुद और उनके परिवारों की जिम्मेदारी लेनी चाहिए।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

दिशा रवि मामले में जज ने कहा, सरकार की नीतियों से असहमत लोगों को जेल नहीं भेज सकते