दिल्ली में Coronavirus मामलों के अगस्त में तेजी से बढ़ने की चेतावनी

शनिवार, 4 जुलाई 2020 (23:32 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली में पिछले एक हफ्ते में कोविड-19 के प्रतिदिन के नए औसत मामलों में कमी दर्ज किए जाने के बीच विशेषज्ञों ने दावा किया है कि शहर में अगस्त के आरंभ में संक्रमण के मामले अपनी चरम सीमा को भी पार कर सकते हैं। बहरहाल, उन्होंने चेतावनी दी है कि यदि सामाजिक दूरी और स्वच्छता के नियमों का लोग पालन नहीं करते हैं तो फिर से मामले तेजी से बढ़ सकते हैं।

उल्लेखनीय है कि 23 जून को दिल्ली में कोविड-19 के सर्वाधिक 3,947 मामले सामने आए थे। शहर में 26 जून तक लगातार 3,000 से अधिक मामले सामने आए। 26 जून को 3,460  नए मामले सामने आए थे। 27 जून से 3 जुलाई तक नए मामलों का औसत 2,494 था जबकि यह इसके हफ्ताभर पहले प्रतिदिन औसत 3,446 था।

अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्थान (एम्स) दिल्ली के निदेशक रणदीप गुलेरिया ने कहा कि यदि दिल्ली में (कोविड-19 के) मामलों की संख्या अगले कुछ हफ्तों में स्थिर रहती है या इसमें कमी आती है तो, ... तथा इसका घटना सतत रूप से जारी रहता है, तब हम कह सकते हैं कि हम अगस्त में चरम सीमा को पार करेंगे।

उन्होंने कहा कि लेकिन यह सिर्फ तभी होगा जब हम सामाजिक दूरी के नियमों का पालन करना जारी रखेंगे, बताए गए एहतियात बरतेंगे तथा लॉकडाउन की पाबंदियों में छूट दिए जाने के बावजूद पूरी सावधानी बरतेंगे।

डॉ. गुलेरिया ने कहा कि कुछ शहरों में मामलों के बढ़ने की प्रवृत्ति में कमी आई है, लेकिन जब लॉकडाउन हट जाएगा तब लोग नियमों का पालन नहीं करेंगे और इसके चलते मामले तेज गति से बढ़ेंगे। इसलिए आत्मसंतुष्ट होने की कोई गुंजाइश नहीं है। किसी की ओर से कहीं भी यदि चूक होगी तो इससे मामले तेजी से बढ़ेंगे।

फोर्टिस हॉस्पिटल, शालीमार बाग, के श्वसन रोग एवं अनिद्रा विकार विभाग के निदेशक एवं प्रमुख डॉ. विकास मौर्या ने कहा कि दिल्ली में मामले पहले के अनुमान के मुताबिक नहीं बढ़े हैं, इसलिए यह अगस्त में चरम सीमा को पार कर सकती है।

उन्होंने कहा कि लेकिन एक बार फिर से कहना चाहूंगा कि यह अनूठा वायरस है और हम इसकी गतिविधियों के बारे में नहीं जानते। इसलिए हम नहीं जानते कि यह कैसा व्यवहार करेगा। बहरहाल, कोई महामारी सालभर या इससे कुछ अधिक समय तक रहती है, इसलिए एक समाज के तौर पर हमें अवश्य ही तैयार रहना चाहिए। हालांकि मौर्या ने चेतावनी दी कि शहर में अगस्त या सितंबर में कोविड-19 महामारी के प्रकोप का दूसरा चरण देखने को मिल सकता है।

मौर्या ने कहा कि हम सिर्फ यह चीज कर सकते हैं कि सामाजिक दूरी, स्वच्छता और सरकारी अधिकारियों द्वारा निर्धारित अन्य नियमों का पालन कर संक्रमण के मामलों में कमी सुनिश्चित हो। अन्यथा हमारी अब तक सभी उपलब्धियों पर पानी फिर जाएगा और हम मामलों को फिर से तेज गति से बढ़ते देखेंगे। उन्होंने दलील दी कि पिछले एक हफ्ते में पॉजिटिविटी दर कम हुई है और अस्पतालों में बिस्तर खाली पड़े हैं।
संक्रमितों की संख्या 97 हजार के पार : दिल्ली में शनिवार को कोरोना वायरस के 2,505 नए मामले सामने आए जिससे शहर में संक्रमितों की कुल संख्या बढ़कर 97,000 के पार चली गई। वहीं मृतक संख्या बढ़कर 3,004 हो गई। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग के बुलेटिन में शनिवार को बताया गया कि पिछले 24 घंटे में 55 मरीजों की मौत हुई है। बुलेटिन में शनिवार को बताया गया कि पहले हुई 26 मौतों की भी गणना शनिवार में शामिल की गई।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अमेरिका के 40 से 50 राज्यों में तेजी से बढ़ रहे हैं COVID-19 के मामले