दुनियाभर में Coronavirus संक्रमण के मामले 1 करोड़ 40 लाख के पार, 6 लाख से ज्यादा मौत

शनिवार, 18 जुलाई 2020 (20:30 IST)
जोहानसबर्ग। कोरोनावायरस (Coronavirus) से सबसे ज्यादा प्रभावित दुनिया के 5 देशों में शनिवार को दक्षिण अफ्रीका जगह बनाता दिख रहा है, वहीं दुनियाभर में संक्रमण के तेजी से बढ़ते मामलों से साफ है कि सामान्य जनजीवन के फिर से पटरी पर लौटने में अभी काफी वक्त है। अमेरिका के जॉन हॉपकिंस विश्वविद्यालय के मुताबिक दुनियाभर में कोरोनावायरस संक्रमण के मामले 1 करोड़ 40 लाख के पार पहुंच गए हैं जबकि अब तक 6 लाख से ज्यादा लोगों की इस महामारी से मौत हो चुकी है।

इससे एक दिन पहले विश्व स्वास्थ्य संगठन ने दुनियाभर में एक दिन में संक्रमण के रिकॉर्ड 2,37,000 मामले सामने आने की पुष्टि की थी। अमेरिका में महामारी से मरने वालों की संख्या बढ़ रही है वहीं भारत में संक्रमण के मामलों की संख्या 10 लाख के पार पहुंच गई है।

ईरान की सरकारी संवाद समिति आईआरएनए ने शनिवार को कहा कि ईरान के राष्ट्रपति ने यह चौंकाने वाला खुलासा किया कि करीब ढाई करोड़ ईरानी नागरिक संक्रमित हो सकते हैं।

हसन रुहानी ने स्वास्थ्य मंत्रालय के एक नए अध्ययन को उद्धृत करते हुए यह बात कही। इस अध्ययन को सार्वजनिक नहीं किया गया है। पश्चिम एशिया में इस महामारी से ईरान सबसे बुरी तरह प्रभावित है जहां अब तक संक्रमण के 2,70,000 मामले सामने आ चुके हैं।

विशेषज्ञों का मानना है कि दुनियाभर में जांच में कमी के कारण संक्रमण के मामले कहीं ज्यादा हैं। अब जब देश लॉकडाउन की पाबंदियों में रियायत दे रहे हैं ऐसे में मामलों की एक नई लहर आ सकती है।

अमेरिका, ब्राजील, भारत और रूस के बाद दक्षिण अफ्रीका कोरोनावायरस से दुनिया के सबसे बुरी तरह प्रभावित पांच देशों में शामिल हो सकता है। वहां संक्रमण के मामलों की संख्या 3,50,000 के करीब पहुंच गई है। मामलों के मौजूदा रुझानों को देखकर लगता है कि वह पेरू से आगे निकल जाएगा।

दक्षिण अफ्रीका में संक्रमण का नया केंद्र गौटेंग प्रांत है जहां देश की करीब एक चौथाई आबादी रहती है, जिनमें से बहुत से करीब भीड़भाड़ वाले इलाकों में रहते हैं। अफ्रीकी महाद्वीप के कुल मामलों में से करीब आधे मामले इसी देश से हैं।

भारत में 34,884 नए मामले सामने आएं हैं और स्थानीय सरकारें देश के कुछ इलाकों में लॉकडाउन को लागू कर रही हैं जिस दौरान सिर्फ आवश्यक खाद्य आपूर्ति व स्वास्थ्य सेवाओं की इजाजत है।

अमेरिका के टेक्सास और कैलीफोर्निया में कोरोनावायरस से मरीजों की बाढ़ को संभालने के लिए सेना के चिकित्साकर्मियों को तैनात किया गया है। सबसे घनी आबादी वाले दोनों राज्यों में करीब 10 हजार नए मामले आए हैं और मरने वालों की संख्या भी अच्छी खासी है। चीन के शिनजियांग प्रांत में कोविड-19 के नए मामले बढ़कर 17 हो गए हैं।

बांग्लादेश में संक्रमण के मामलों की संख्या बढ़कर दो लाख के पार पहुंच गई है हालांकि विशेषज्ञों का कहना है कि यह संख्या काफी ज्यादा होगी क्योंकि देश में जांच के लिए पर्याप्त प्रयोगशालाएं नहीं हैं। ग्रामीण इलाकों में अधिकतर लोगों ने मास्क पहनना छोड़ दिया है और इस महीने के अंत में आने वाले त्योहार ईद अल-अजहा से जुड़ी खरीदारी के लिए बाजारों में उमड़ रहे हैं।
वहीं ब्रिटेन में प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन ने उम्मीद जताई थी कि क्रिसमस तक देश लॉकडाउन से उबर जाएगा और हालात सामान्य होंगे लेकिन वैज्ञानिक उनकी इस उम्मीद से इत्तेफाक नहीं रखते। खासतौर पर तब जब इस बीमारी के टीके को लेकर कोई ठोस जानकारी नहीं है। ब्रिटेन में कोविड-19 के कारण 45,000 से ज्यादा लोगों की जान जा चुकी है जो यूरोप में सर्वाधिक है।(भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख इंदौर में नहीं लगेगा Lockdown, रविवार को जारी रहेगी सख्ती