Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

अमेरिका में थम नहीं रहा कोरोना का कहर, न्यूयॉर्क में हर हफ्ते सामने आ रहे हैं 50,000 नए मामले

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
सोमवार, 29 मार्च 2021 (07:14 IST)
एल्बनी (न्यूयॉर्क)। कोरोनावायरस महामारी के वैश्विक केंद्र के तौर पर उभरने के सालभर बाद न्यूयॉर्क और न्यूजर्सी एक बार फिर से अमेरिका में संक्रमण की सर्वाधिक दर वाले राज्यों की सूची में शीर्ष पर हैं। न्यूयॉर्क में प्रति सप्ताह करीब 50,000 नए मामले सामने आ रहे हैं।
 
संक्रमण के मामले बढ़ने के मद्देनजर न्यूयॉर्क सिटी के सरकारी वकील जुमानी विलियम्स ने न्यूयॉर्क के गवर्नर से पाबंदियां हटाने की योजना पर पुनर्विचार करने की अपील की है।
 
कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण अभियान में तेजी लाए जाने के बावजूद न्यूजर्सी में संक्रमण के नए मामले एक महीने से कुछ अधिक समय में 37 प्रतिशत से अधिक बढ़े हैं। प्रति सप्ताह 23,600 नए मामले सामने आ रहे हैं।

5 लाख से ज्यादा की मौत : अमेरिका में अब तक 5.49 लाख से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है।
अमेरिका में यह महामारी विकराल रूप ले चुकी है और अब तक 3.02 करोड़ से अधिक लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं। अमेरिका की जॉन हॉपकिन्स यूनिवर्सिटी के विज्ञान एवं इंजीनियरिंग केन्द्र (सीएसएसई) की ओर से जारी किए गए ताजा आंकड़ों के मुताबिक अमेरिका में कोरोना से मरने वालों की संख्या 5,49,155 पहुंच गई है जबकि संक्रमितों की संख्या 3,02,37,545 हो गई है।
 
अमेरिका का न्यूयॉर्क, न्यूजर्सी और कैलिफोर्निया प्रांत कोरोना से सबसे बुरी तरह प्रभावित हैं। अकेले न्यूयॉर्क में कोरोना संक्रमण के कारण 50,017 लोगों की मौत हुई है। न्यूजर्सी में अब तक 24,389 लोगों की इस महामारी के कारण मौत हो चुकी है।

कैलिफोर्निया में कोविड-19 से अब तक 58,928 लोगों की मौत हो चुकी है। टेक्सास में इसके कारण 48,039 लोग अब तक अपनी जान गंवा चुके हैं जबकि फ्लोरिडा में कोविड-19 से 33,142 लोगों की जान गई है। इसके अलावा इलिनॉयस में 23,521, मिशीगन में 17,047, मैसाचुसेट्स में 17,086 जबकि पेंसिल्वेनिया में कोरोना से 24,970 लोगों की मौत हुई है।

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
दिल्ली में अब एलजी ही 'सरकार', GNCTD बिल को राष्ट्रपति की मंजूरी