Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Special Story: COVID-19 में SARS एवं MERS जैसे वायरस शामिल

webdunia
webdunia

डॉ. रमेश रावत

रविवार, 27 सितम्बर 2020 (21:41 IST)
कोरोनावायरस क्या है एवं इसका इलाज कैसे होगा तथा इसकी वैक्सीन बाजार में कब तक आने की उम्मीद है। इन्हीं सभी प्रश्नों को लेकर साउथ ईस्टर्न अफ्रीका के मलावी (Malawi) में ग्लोबल हैल्थ स्पेशलिस्ट, इंप्लीमेंटेशन रिसर्चर करंट अफेयर्स विथ पोजिशन एंड कंपनी में टेक्निकल हैड (कोविड-19 टास्क फोर्स) डॉ. पार्थ पटेल से वेबदुनिया ने खास बातचीत की। 
 
पार्थ कहते हैं कि वर्तमान समय में ऐसी कोई दवा नहीं है जो कि कोविड-19 के संक्रमण को ठीक करती हो। ऐसी दवाएं हैं जो कि अभी भी नैदानिक परीक्षण से गुजर रही हैं। अभी भी उनकी प्रभावशीलता का आकलन किया जा रहा है। कोविड-19 एक जूनोटिक रोग है, जिसका अर्थ है कि यह जानवरों से उत्पन्न हुआ है एवं मनुष्यों के माध्यम से फैला है। 
कोविड-19 कोरोनावायरस परिवार समूह का एक सदस्य है, जिसमें SARS एवं MERS जैसे वायरस शामिल हैं। जो स्वाभाविक रूप से मनुष्यों के माध्यम से प्रेषित किए गए हैं। वर्तमान समय में दुनिया भर में संस्थान वायरस के लिए वैक्सीन बनाने के लिए काम कर रहे हैं। 
 
पार्थ कहते हैं कि कोविड विशेष रूप से कमजोर प्रतिरक्षा प्रणाली या अंतर्निहित चिकित्सा स्थितियों वाले व्यक्तियों में जीवन के लिए खतरा हो सकता है। भविष्य में कोविड-19 वैक्सीन की कीमत इस पर काम करने वाली दवा कंपनियों के द्वारा लागत के आधार पर तय की जाएगी। अब तक विभिन्न संगठनों की ओर से वैक्सीन के अनुसंधान एवं इसे बनाने के लिए अरबों रुपए खर्च किए जा चुके हैं।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Special Story: बर्लिन में इस तरह गुजरा हमारा Lockdown