Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

दिल्ली में 24 घंटे में आए 25 हजार से ज्यादा नए Corona मरीज, 412 लोगों की मौत

webdunia
रविवार, 2 मई 2021 (01:52 IST)
नई दिल्ली। दिल्ली में शनिवार को कोरोनावायरस (Coronavirus) संक्रमण के 25,219 नए मामले सामने आए जबकि एक ही दिन में कोविड-19 के सर्वाधिक 412 मरीजों ने दम तोड़ दिया। राष्ट्रीय राजधानी में संक्रमण दर 31.61 प्रतिशत हो गई है। दिल्ली स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी बुलेटिन में यह जानकारी दी गई है।

सरकारी आंकड़े के मुताबिक, दिल्ली में शुक्रवार को 375 मरीजों की मौत हुई थी जबकि गुरुवार को 395, बुधवार को 368, मंगलवार को 381 और सोमवार को 380 मरीजों की जान गई थी।

बुलेटिन के मुताबिक, दिल्ली में अब तक संक्रमण के 11,74,553 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 10.61 लाख मरीज ठीक हुए हैं जबकि इस घातक वायरस के कारण 16,559 लोगों की मौत हो चुकी है। शहर में पिछले 24 घंटे में 79,780 नमूनों की जांच की गई। राष्ट्रीय राजधानी में फिलहाल 96,747 मरीज उपचाराधीन हैं।

केंद्र ने बढ़ाया ऑक्सीजन का कोटा : दिल्ली के अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी के बीच केंद्र ने शनिवार को राष्ट्रीय राजधानी का दैनिक ऑक्सीजन कोटा 490 मिट्रिक टन से बढ़ाकर 590 मिट्रिक टन कर दिया। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय के मुताबिक, दिल्ली को ओडिशा के कलिंग नगर से अतिरिक्त 75 मिट्रिक टन और ओडिशा के झारसुगुडा की जेएसडब्ल्यू बीपीएसएल से 25 मिट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति की जाएगी।
ALSO READ: CoronaVirus : घर से निकलें तो ये बातें ध्यान में रखें
मंत्रालय के अनुसार नए आवंटन के साथ ही अब दिल्ली को प्रतिदिन 590 मिट्रिक टन ऑक्सीजन मिलेगी। हालांकि राष्ट्रीय राजधानी में कोरोनावायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के चलते दिल्ली सरकार केंद्र से 976 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की मांग कर रही है। इससे पहले दिन में मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा था कि दिल्ली को प्रतिदिन 976 मीट्रिक टन मेडिकल ऑक्सीजन की आवश्यकता है।
ALSO READ: CoronaVirus : कोरोना काल में घर आ रहे हैं मेहमान तो इन बातों का रखें ख्याल
इस बीच, दिल्ली सरकार ने सभी जिलाधिकारियों से मेडिकल ऑक्सीजन की आपूर्ति करने वाली इकाइयों की 24 घंटे निगरानी करने के निर्देश दिए हैं, ताकि जरूरतमंद मरीजों और अस्पतालों को इस जीवनरक्षक गैस की आपूर्ति सुनिश्चित की जा सके।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कोरोना महामारी के बीच 5 राज्यों में मतगणना की तैयारियां हुईं पूरी