Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कोरोना की चपेट में आने से कैसे बचते हैं भाजपा कार्यकर्ता, पढ़कर चौंक जाएंगे गुजरात के विधायक का तर्क

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
सोमवार, 22 मार्च 2021 (10:42 IST)
अहमदाबाद। गुजरात में भाजपा के एक विधायक ने रविवार को कहा कि उनकी पार्टी के कार्यकर्ता कड़ी मेहनत करते हैं, इसलिए वे कोरोनावायरस से संक्रमित नहीं होते।
 
राजकोट (दक्षिण) से विधायक गोविंद पटेल से संवाददाताओं ने सवाल किया कि क्या चुनाव प्रचार के दौरान नेताओं एवं कार्यकर्ताओं द्वारा दिशा-निर्देशों का उल्लंघन किया जाना संक्रमण के मामले बढ़ने का कारण है? इसके जवाब में पटेल ने कहा कि जो कड़ी मेहनत करते हैं, उन्हें कोरोनावायरस संक्रमण नहीं होता। भाजपा कार्यकर्ता कड़ी मेहनत करते हैं इसीलिए एक भी कार्यकर्ता संक्रमित नहीं हुआ है।

 
उल्लेखनीय है कि पिछले महीने स्थानीय निकाय चुनावों की प्रचार मुहिम के दौरान गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी संक्रमित पाए गए थे। उनके अलावा पार्टी की राज्य इकाई के प्रमुख सीआर पाटिल और कई विधायकों समेत सत्तारूढ़ पार्टी के कई नेता अलग-अलग समय पर संक्रमित पाए गए। वडोदरा से भाजपा सांसद रंजनबेन भट्ट ने शनिवार को घोषणा की थी कि वह संक्रमित होने के कारण अस्पताल में भर्ती हैं। इस बीच राज्य के उपमुख्यमंत्री नितिन पटेल ने इस बातों को खारिज किया कि स्थानीय निकाय चुनाव और अहमदाबाद में टेस्ट एवं टी-20 मैचों का आयोजन कोविड-19 के मामले बढ़ने का मुख्य कारण हैं।

webdunia
 



उन्होंने कहा कि संविधान के तहत आवश्यकता के अनुसार चुनाव कराए गए। क्रिकेट मैच केवल अहमदाबाद में आयोजित हुए। महाराष्ट्र में कोई क्रिकेट मैच या चुनाव नहीं था, लेकिन देश में संक्रमण के दैनिक मामलों में से सर्वाधिक मामले (करीब 50 प्रतिशत मामले) महाराष्ट्र में सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि संक्रमण के मामलों में हाल में आई बढ़ोतरी को लेकर किसी निष्कर्ष पर नहीं पहुंचा जा सकता, लेकिन यह वास्तविकता है कि संक्रमण से निपटने के लिए नियमों का पालन और महामारी को काबू करना लोगों की सामूहिक जिम्मेदारी है। (भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
हर दिन टूटते रिकॉर्ड, पिछले 24 घंटों में सामने आए 46 हजार से ज्यादा नए मामले, बीते 4 महीने में सबसे ज्यादा