Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

कोरोना से मुक्ति के लिए हेमा मालिनी ने की ब्रजवासियों से यह अपील...

webdunia

हिमा अग्रवाल

शनिवार, 5 जून 2021 (00:34 IST)
मथुरा से भाजपा सांसद और फ़िल्म अभिनेत्री हेमा मालिनी ने मुंबई से अपना एक वीडियो संदेश जारी किया है। इस वीडियो के माध्यम से उन्होंने ब्रजवासियों से 5 जून को होने वाले विश्व पर्यावरण दिवस पर अपील की है कि कोरोनावायरस (Coronavirus) महामारी से मुक्ति और पर्यावरण को स्वच्छ बनाए रखने कि अपील की है। हेमा मालिनी के लगभग डेढ़ मिनट के संदेश में उन्होंने सभी धर्मों और जातियों के लोगों से अपील की है।

हेमा मालिनी ने कहा कि हमारे यहां प्राचीनकाल से ही यज्ञ और हवन किए जाते रहे हैं। इससे पर्यावरण शुद्ध होता है, साथ ही जो नकारात्मक प्रवृत्तियां पनप रही होती हैं, उनका नाश होता है। इसलिए पर्यावरण को शुद्ध रखने के लिए सभी धर्म और जातियों के लोगों को सम्मिलित होना चाहिए, साथ ही अपने परिवार के साथ संयुक्त रूप से हवन-यज्ञ करें, ताकि वातावरण सुगंधित और स्वच्छ हो सके।

ऐसा करने से मानवता को भी बढ़ावा मिलेगा, ये हवन-यज्ञ तब तक करना चाहिए, जब तक कि कोरोना समाप्त नहीं हो जाता। मथुरा में स्वयं सेवक संघ द्वारा पांच जून से यज्ञ का आयोजन किया जा रहा है। हेमा मालिनी ने अपील की है कि लोग खुद और आसपास के लोगों को जागरूक करते हुए इसमें शामिल हों, लेकिन कोरोना काल है, इसलिए मास्क और दो गज की दूरी का पालन करें, लेकिन चिंतन का विषय यह है कि कोरोना मुक्ति का क्या सच में हवन-यज्ञ ही एकमात्र उपाय है।
ALSO READ: Coronavirus 3rd Wave: क्या बच्चों को कोरोना से बचा सकता है फ्लू का टीका?
कुछ समय पहले देश के प्रधानमंत्री ने कोरोना के खात्मे के लिए एकसाथ थाली और घंटी बजवाई थी। विरोधियों ने इस कार्यक्रम को आड़े हाथ लेते हुए मजाक बताया। अब अभिनेत्री हेमा मालिनी ने इस कोरोना महामारी से बचाने के लिए लोगों से यज्ञ और हवन की अपील करते हुए इसे भगाने की युक्ति बताई है। यदि हवन-यज्ञ से कोरोना जा सकता है तो फिर डॉक्टर और वैज्ञानिकों द्वारा बनाई गई वैक्सीन पर लाखों करोड़ों रुपए सरकार को खर्च करने की आखिर जरूरत क्या थी।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Vaccine घोटाले में घिरी पंजाब सरकार, केन्द्र मांगा स्पष्टीकरण