Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

महाराष्ट्र में कोरोना बेकाबू, 24 घंटे में 61,695 नए मामले, वायरस संक्रमण से 349 की मौत

webdunia
गुरुवार, 15 अप्रैल 2021 (23:50 IST)
मुंबई। महाराष्ट्र में गुरुवार को कोरोनावायरस संक्रमण के 61,695 नए मामले सामने आने के बाद मामलों की कुल संख्या बढ़कर 36,39,855 पर पहुंच गई जबकि इस महामारी से 349 और मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 59,153 हो गई है। राज्य स्वास्थ्य विभाग ने यह जानकारी दी।
कोविड-19 के एक दिन में सामने आए नए मामलों का अब तक का यह दूसरा सबसे बड़ा आंकड़ा है। इससे पहले 11 अप्रैल को 63,294 मामले दर्ज किए गए थे। विभाग ने एक विज्ञप्ति में बताया कि दिन के दौरान 53,335 और लोगों को स्वस्थ होने के बाद अस्पतालों से छुट्टी दे दी गई। अब तक राज्य में 29,59,056 लोग स्वस्थ हो चुके हैं। विज्ञप्ति के अनुसार राज्य में उपचाराधीन मरीजों की संख्या अब 6,20,060 हैं।
 
मुंबई में महामारी के 8,209 नए मामले सामने आने के बाद मामलों की कुल संख्या 5,53,404 पर पहुंच गई तथा 50 और लोगों की मौत होने से मृतक संख्या 12,197 हो गई। विभाग ने बताया कि महाराष्ट्र में 2,34,452 और नमूनों की जांच की गई। राज्य में अब तक 2,30,36,652 नमूनों की जांच की जा चुकी है।
 
विभाग ने बताया कि राज्य में इस समय 35,87,478 लोग घरों में पृथक-वास में हैं जबकि 27,273 लोग संस्थागत पृथक-वास केन्द्रों में हैं। इसके अनुसार राज्य में इस समय कोविड-19 से स्वस्थ होने की दर 81.3 प्रतिशत है।
प्राकृतिक आपदा घोषित करने की मांग : महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के मुताबिक राज्य में कोविड-19 के उपचाराधीन मरीजों की संख्या 15 दिन में दोगुनी होने की आशंका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को लिखे पत्र में ठाकरे ने कहा कि राज्य में इस समय 5.64 लाख उपचाराधीन मरीज हैं जिनकी संख्या 30 अप्रैल तक 11.9 लाख होने की आशंका है। यह पत्र बुधवार को प्रधानमंत्री को भेजा गया जिसमें कहा गया है कि अप्रैल के अंत तक राज्य में चिकित्सा इस्तेमाल में आने वाली ऑक्सीजन की जरूरत रोजना दो हजार मीट्रिक टन तक पहुंच सकती है जबकि मौजूदा समय में इसकी रोजाना मांग 1,200 मीट्रिक टन है।
 
पड़ोसी राज्यों से तरल चिकित्सा ऑक्सीजन के परिवहन में रणनीतिक समस्या के मद्देनजर ठाकरे ने राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन के तहत विमान से ऑक्सीजन के परिवहन की अनुमति देने की मांग केंद्र से की है जिसका इस्तेमाल कोविड-19 मरीजों के इलाज में किया जाता है।
 
महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने बुधवार को बताया कि उनके राज्य ने कोविड-19 के बढ़ते मामलों को देखते हुए पड़ोसी राज्यों से ऑक्सीजन के लिए संपर्क किया लेकिन उन्होंने भारी मांग की वजह से इसमें असमर्थता जताई। ठाकरे ने मंगलवार को कहा था कि चिकित्सा ऑक्सीजन की कमी है और केंद्र को वायुसेना के विमान के जरिये राज्य के मरीजों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति करनी चाहिए।
 
मोदी को लिखे पत्र में ठाकरे ने रेमडेसिविर इंजेक्शन के निर्यात को रोकने के केंद्र के फैसले का स्वागत किया और मांग की कि प्राधिकारी भारतीय पेटेंट कानून 1970 की धारा 92 के तहत जरूरी लाइसेंस दें ताकि इस महत्वपूर्ण दवा का घरेलू बाजार में बिना किसी कानूनी बाधा के उत्पादन एवं वितरण हो सके। उन्होंने केंद्र से कोविड-19 महामारी को प्राकृतिक आपदा घोषित करने पर भी विचार करने को कहा ताकि महाराष्ट्र सरकार राज्य आपदा प्रतिक्रिया कोष से प्रभावित लोगों को वित्तीय मदद दे सके।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

कोरोना से जूझ रहे मरीजों को हौसला दें, WhatsApp पर फिजूल का ज्ञान न बांटें