Lockdown में फंसे प्रवासी मजदूर भीषण गर्मी में जम्मू से हुए रवाना

शुक्रवार, 15 मई 2020 (23:26 IST)
जम्मू। चिलचिलाती धूप और प्रचंड गर्मी की परवाह न करते हुए कई प्रवासी मजदूर जम्मू से हजारों किलोमीटर दूर उत्तर प्रदेश स्थित अपने गृह नगरों की ओर निकल लिए हैं।उनका आरोप है कि सरकार उनकी दिक्कतों को अनदेखा कर रही है।

लॉकडाउन के कारण कई दिनों से जम्मू में फंसे रहने के बाद 150 श्रमिक गुरुवार को कंधे पर अपना सारा सामान लिए घर की ओर पैदल निकल पड़े। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर के निवासी सुरेंद्र ने कहा, कोई हमारे लिए नहीं सोचता। हम जम्मू से पैदल सैकड़ों किलोमीटर चलकर आए लेकिन किसी ने भी हमें रोककर नहीं पूछा कि हम कहां जा रहे हैं।

उन्होंने कहा, हमारे पास पानी और खाना नहीं है। हमारे लिए कोई वाहन या बस नहीं रुकी। हमें भगवान के भरोसे छोड़ दिया गया है।

उत्तर प्रदेश के निवासी प्रवासी श्रमिकों ने सरकार पर शिकायतों की अनदेखी करने का आरोप लगाते हुए कहा कि यदि कश्मीरी छात्रों और श्रमिकों को उत्तर प्रदेश, राजस्थान, हरियाणा, पंजाब और हिमाचल प्रदेश से बसों और ट्रेनों से वापस लाया जा सकता है तो उसी बस और ट्रेन से उन्हें उनके गृह नगर क्यों नहीं भेजा जा सकता।

मेरठ के निवासी ताहिरदीन ने कहा, कश्मीरी छात्रों और श्रमिकों को यथासंभव सुविधाएं देकर वापस लाया गया, लेकिन सरकार ने हमें नजरअंदाज किया।(भाषा)

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Lockdown 4.0 में ज्यादा छूट, केंद्र शासित क्षेत्र बंदिशों पर खुद ले सकेंगे फैसला