Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

PM मोदी को भरोसा, Corona के खिलाफ लंबी लड़ाई अवश्य जीतेगा भारत

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 6 अप्रैल 2020 (17:34 IST)
नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी (Narendra Modi) ने कोरोना वायरस ‘कोविड-19’ (Covid-19) की महामारी के खिलाफ जंग को एक लंबी लड़ाई बताते हुए कहा है कि सभी देशवासियों की विचार, वाणी और संकल्प की अभूतपूर्व एकजुटता से भारत यह जंग अवश्य जीतेगा। मोदी ने सोमवार को भारतीय जनता पार्टी के 40वें स्थापना दिवस पर पार्टी कार्यकर्ताओं को बधाई देते हुए यह विश्वास व्यक्त किया। 
 
उन्होंने कार्यकर्ताओं से कोरोना वायरस के खिलाफ 'महाजंग' में भागीदार बनने और सरकार के द्वारा जारी निर्देशों का पालन करने की अपील करते हुए कहा कि हमारी पार्टी का स्थापना दिवस एक ऐसे कालखंड में आया है, जब देश ही नहीं, पूरी दुनिया एक मुश्किल वक्त से गुजर रही है। चुनौतियों से भरा ये वातावरण, देश की सेवा के लिए, हमारे संस्कार, हमारे समर्पण, हमारी प्रतिबद्धता को और प्रशस्त करता है।
 
उन्होंने कहा कि जनसंघ से लेकर भाजपा की स्थापना तक, संसद में 2 सदस्यों वाली पार्टी से लेकर 300 से ज्यादा सांसदों के लिए मिले आशीर्वाद तक श्रद्धेय डॉ. श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी, पंडित दीन दयाल उपाध्याय जी, श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी जी, श्रद्धेय सुंदर सिंह भंडारी जी, आदरणीय कुशाभाऊ ठाकरे जी जैसे मनीषी महापुरुषों ने हमें राष्ट्र प्रथम का आदर्श दिया है। आज उस आदर्श को आसमान की ऊँचाई तक ले जाने का समय है।
 
वैश्विक कोरोना संकट के संदर्भ में प्रधानमंत्री ने कहा कि कोरोना वैश्विक महामारी से निपटने के लिए भारत के अब तक के प्रयासों ने दुनिया के सामने एक अलग ही उदाहरण प्रस्तुत किया है। भारत दुनिया के उन पहले देशों में है, जिसने कोरोना वायरस के खिलाफ एक व्यापक जंग का ऐलान किया। जब तमाम देश इस वायरस की भयावहता का अंदाजा लगाने का प्रयास कर रहे थे, तब भारत एक के बाद एक अनेक फैसले जमीन पर उतार चुका था।
 
मोदी ने कहा कि एयरपोर्ट पर लोगों की थर्मल स्क्रीनिंग, विदेश में फंसे भारतीयों को स्वदेश लाना, मेडिकल इंफ्रास्ट्रक्चर को इस महामारी से निपटने के लिए तैयार करने के लिए हर स्तर पर भारत ने फैसले लिए और राज्य सरकारों के सहयोग से इन फैसलों को गति दी। भारत ने जितनी गति से इस दिशा में काम किया है, जितनी समग्रता से काम किया है, उसकी सराहना विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने भी की है।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि तमाम देश एकजुट होकर कोरोना का मुकाबला करें, इसके लिए सार्क देशों की विशेष बैठक हो या जी-20 देशों का विशेष सम्मेलन, भारत ने इनके आयोजनों में अहम भूमिका निभाई है।

उन्होंने कहा कि इस दौरान दुनिया के अनेक देशों के राष्ट्राध्यक्षों ने भारत के प्रयासों की सराहना की है। भारत जैसा विकासशील देश जो दशकों से गरीबी के खिलाफ बड़ी लड़ाई लड़ रहा है, उसके द्वारा उठाए गए कदम एवं एकजुटता के लिए राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय मंच पर किए गए प्रयास अभूतपूर्व हैं।
webdunia
मोदी ने संस्कृत के एक श्लोक को उद्धृत करते हुए कहा, 'समानो मंत्र: समिति: समानी। समानम् मनः सह चित्तम् एषाम्।' अर्थात् हमारे विचार, हमारे संकल्प और हमारे हृदय एकजुट होने चाहिए और यही एकजुटता, यही संकल्प, भारत की बहुत बड़ी ताकत है।
 
उन्होंने कहा कि चाहे एक दिन का जनता कर्फ़्यू हो या लॉकडाउन का ये समय, प्रत्येक भारतीय तमाम मुश्किलें उठाकर भी देश के साथ पूरी मजबूती से खड़े हैं। भारत जैसे विशाल देश के 130 करोड़ नागरिकों ने लॉकडाउन के समय जिस तरह की परिपक्वता दिखाई है, गांभीर्य दिखाया है, वह अभूतपूर्व है। कोई कल्पना नहीं कर सकता था कि इतने विशाल देश में लोग इस तरह अनुशासन और सेवा भाव का पालन करेंगे।
 
मोदी के अनुसार कल भी 5 अप्रैल की रात के 9 बजे हमने 130 करोड़ देशवासियों की सामूहिक शक्ति के दर्शन किए। हर वर्ग, हर आयु के लोग, अमीर-गरीब, सभी ने मिलकर, एकजुटता की इस ताकत को नमन किया, कोरोना के खिलाफ लड़ाई का अपना संकल्प दोहराया है। असंख्य दीयों के प्रकाश ने गांव-देहात से लेकर बड़े शहरों तक कोरोना संकट के अंधरे को, उस हताशा-निराशा को दूर करने में कितनी बड़ी मदद की है, यह हम सबने देखा है।
 
130 करोड़ देशवासियों की महाशक्ति के महाप्रयास से उत्पन्न महाप्रकाश ने देशवासियों को लंबी लड़ाई के लिए तैयार किया है। आज देश का लक्ष्य एक है, मिशन एक है, और संकल्प एक है-कोरोना महामारी के खिलाफ लड़ाई में जीत और इसलिए, देश की इस कठिन घड़ी में भारतीय जनता पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं पर राष्ट्र सेवा और मानव सेवा का दायित्व और भी ज्यादा बढ़ जाता है।
webdunia
मोदी ने कहा कि पार्टी के 40वें स्थापना दिवस पर पार्टी कार्यकर्ताओं से अनेक सुझावों पर कार्य करने का आग्रह किया गया है। इन सुझावों में ‘अंत्योदय’ की भावना भी है और सेवा का ‘अटल संकल्प’ भी।
 उन्होंने कहा, मैं इनमें से कुछ विशेष कार्यों पर और बल देने के लिए प्रार्थना करूंगा। इसे एक तरह से आप मेरे पंच-आग्रह मान सकते हैं।
 
इसमें पहला आग्रह है, गरीबों को राशन के लिए सेवा अभियान। जब से ये संकट शुरू हुआ है, तब से भाजपा के लाखों कार्यकर्ता, दिन-रात गरीबों की मदद करने, उन्हें राशन पहुंचाने के कार्य में जुटे हैं। आने वाले दिनों में आप सभी को इसे एक बड़े अभियान में बदलना है। एक-एक भाजपा कार्यकर्ता को ये सुनिश्चित करना है कि हमारे आसपास एक भी गरीब भूखा न रहे, उसके पास पर्याप्त भोजन हो।
 
आपको एक और बात ध्यान रखनी है कि किसी की मदद के लिए जाते समय, फेस-कवर जरूर पहनें। जो डॉक्टर या नर्स पहनते हैं, वो वाला मास्क ही हो, ये जरूरी नहीं है। हम घर में किसी भी साधारण कपड़े से फेसकवर बना सकते हैं।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि उनका दूसरा आग्रह है कि अपने साथ ही भाजपा कार्यकर्ता पांच-सात अन्य लोगों के लिए भी ऐसे फेसकवर बनवाएं और उनका वितरण करें। इस मुश्किल समय में समाज को सेवाएँ दे रहे सभी लोगों का आभार व्यक्त करना, उन्हें धन्यवाद देना, उनका मनोबल बढ़ाना, हमारा दायित्व है, कर्तव्य है।
webdunia
तीसरा आग्रह है धन्यवाद अभियान चलाने के लिए। पार्टी ने 5 अलग-अलग वर्ग बनाए हैं, जिन्हें भाजपा के प्रत्येक कार्यकर्ता को धन्यवाद करना है। पहला वर्ग- आपके इलाके में जो भी नर्सेस और डॉक्टर्स हों, दूसरा वर्ग- सफाई कर्मचारी, तीसरा वर्ग– पुलिसकर्मी, चौथा वर्ग- बैंक और पोस्ट ऑफिस के कर्मचारी और पाँचवाँ वर्ग-आवश्यक सेवाओं में जुटे हुए सभी कर्मचारी।
 
उन्होंने कहा कि हमें इन सभी का आभार व्यक्त करना है। इसके लिए आप अपने-अपने बूथ में, पार्टी के 40वें स्थापना दिवस के निमित्त, कम से कम 40 घरों से धन्यवाद का संदेश जुटाएं। कोरोना के खिलाफ लड़ाई में मदद करने के लिए एक ‘आरोग्य सेतु ऐप’ विकसित किया गया है।

मेरा चौथा आग्रह है कि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इस ‘आरोग्य सेतु ऐप’ की जानकारी दें और कम से कम 40 लोगों के मोबाइल में ये ऐप इंस्टाल भी करवाएं। मोदी ने कहा कि संकट की इस स्थिति में गरीबों की यथासंभव आर्थिक मदद भी आवश्यक है। आज देशभर से लाखों लोग पीएम केयर्स फंड में दान कर रहे हैं। इसलिए पांचवां आग्रह है कि इसमें प्रत्येक भाजपा कार्यकर्ता को खुद भी सहयोग करना है और 40 अन्य लोगों से भी इस फंड में सहयोग करवाना है।
 
प्रधानमंत्री ने कहा कि हम ‘चरैवति-चरैवति’ के मंत्र पर विश्वास करने वाले लोग हैं। हमें बढ़ते रहना है, गरीबों की भलाई के लिए, देश के विकास के लिए निरंतर कार्य करते रहना है। हां, ये जरूर याद रखिए कि जब भी बाहर निकलें तो आपको सोशल डिस्टेंसिंग और अनुशासन का पूरा पालन करना है।
 
मोदी ने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि भाजपा का प्रत्येक कार्यकर्ता, अपनी सुरक्षा करते हुए, अपने साथी देशवासियों को भी सुरक्षित बनाएगा, उनकी मदद के लिए हर संभव कदम उठाएगा।

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Corona से जीतने की कहानी, जानिए इंदौर के राजेश की जुबानी...