Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

योगी सख्त, UP में दवा और ऑक्सीजन की कालाबाजारी पर लगेगी रासुका

webdunia
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp
share
सोमवार, 19 अप्रैल 2021 (17:57 IST)
लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड-19 के इलाज में इस्तेमाल होने वाली दवाओं तथा ऑक्सीजन की कालाबाजारी की खबरों पर कड़ा रुख अपनाते हुए ऐसा करने वाले अपराधियों के खिलाफ गैंगस्टर और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासुका) के तहत कार्यवाही करने तथा उनकी संपत्ति जब्त करने के आदेश दिए हैं।

सूचना विभाग के अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने सोमवार को यहां बताया कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 से निपटने के प्रयासों की समीक्षा के दौरान कोविड-19 के इलाज में इस्तेमाल होने वाली रेमडेसिविर तथा अन्य औषधियों और ऑक्सीजन की कालाबाजारी की खबरों पर कड़ा रुख अपनाते हुए पुलिस को निर्देश दिए कि ऐसा करने वाले अपराधियों के खिलाफ गैंगस्टर एक्ट तथा रासुका के तहत कार्रवाई हो, साथ ही उनकी संपत्ति भी जब्त की जाए ताकि भविष्य में कोई ऐसी हरकत करने की हिम्मत ना करे।

उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री ने रेमडेसिविर दवा की उपलब्धता की भी समीक्षा की। इस दौरान उन्हें बताया कि अब तक एक लाख वायल का आर्डर आपूर्तिकर्ताओं को दे दिया गया है और दो-तीन दिन में प्रदेश को करीब 30,000 वायल (इंजेक्शन की शीशियां) प्राप्त हो जाएंगी। योगी ने प्रदेश में इस दवा की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित कराने के निर्देश देते हुए कहा कि कोई भी मरीज इससे वंचित ना रहे।
ALSO READ: 100 दिन तक रह सकती है Coronavirus की दूसरी लहर
सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने प्रदेश में ऑक्सीजन की उपलब्धता बढ़ाने संबंधी निर्देश देते हुए कहा कि जो भी लघु एवं मझोले उद्योग तथा अन्य औद्योगिक इकाइयां औद्योगिक उपयोग के लिए ऑक्सीजन का उत्पादन कर रही हैं वे फिलहाल चिकित्सा उपयोग के लिए इसका उत्पादन करें और पास-पड़ोस के ही अस्पतालों में उस ऑक्सीजन की आपूर्ति कर दें ताकि स्थानीय स्तर पर ऑक्सीजन की आवश्यकता को कम खर्च में पूरा किया जा सके।
ALSO READ: ‘जीनोम सीक्वेंसिंग’ से लगेगा Coronavirus के Double Mutation का पता
उन्होंने बताया कि केंद्र सरकार ने प्रदेश के ऑक्सीजन का कोटा काफी बढ़ा दिया है इस वजह से प्रदेश में पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन उपलब्ध है। मुख्यमंत्री ने ऊर्जा विभाग को निर्देश दिए कि ऑक्सीजन बनाने वाले संयंत्रों में निर्बाध रूप से 24 घंटे बिजली उपलब्ध कराई जाए, ताकि ऑक्सीजन के उत्पादन में कोई कमी ना हो।

सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री ने कोरोना के सबसे ज्यादा मामलों वाले 10 जिलों में बिस्तरों की संख्या दोगुनी करने के निर्देश भी दिए हैं।(भाषा)

Share this Story:
  • facebook
  • twitter
  • whatsapp

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

webdunia
नौसेना ने जब्त किया मछली पकड़ने वाले जहाज से 3000 करोड़ रुपए का मादक पदार्थ