Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

UP में Coronavirus से 265 और मौतें हुईं, 32,993 नए मामले सामने आए

webdunia
मंगलवार, 27 अप्रैल 2021 (21:23 IST)
लखनऊ। उत्तरप्रदेश में पिछले 24 घंटों के दौरान कोविड-19 से संक्रमित 265 और लोगों की मौत हो गई तथा 32,993 नए मरीजों में इस संक्रमण की पुष्टि हुई। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मंगलवार को जारी रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में कोविड-19 संक्रमित 265 और लोगों की मौत हो गई। इसके साथ ही राज्य में इस वायरस से मरने वालों की संख्या बढ़कर 11,678 हो गई है।

 
इस अवधि में सबसे ज्यादा 39 मौतें राजधानी लखनऊ में हुई हैं। इसके अलावा कानपुर नगर तथा गाजियाबाद में 15-15, प्रयागराज और वाराणसी में 13-13, गौतम बुद्ध नगर में 12, जालौन और झांसी में 8-8 मरीजों की मौत हुई है। रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 24 घंटों के दौरान प्रदेश में 32,993 नए मरीजों की पुष्टि हुई है। हालांकि इसी अवधि में 30,398 मरीज संक्रमण से उबरे भी हैं। सबसे ज्यादा 4,437 नए मामले राजधानी लखनऊ में मिले हैं। इसके अलावा कानपुर नगर में 2320, वाराणसी में 1752, प्रयागराज में 1521, बरेली में 1427, मेरठ में 1291 तथा गाजियाबाद में 1068 नए मरीजों की पुष्टि हुई है।

‘टेलीकंसल्टेशन’ के आदेश : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मंगलवार को हर जिले में कोविड और गैर कोविड रोगियों के लिए ‘टेलीकंसल्टेशन’ (फोन से परामर्श) की व्यवस्था करने के निर्देश दिए।
राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने यहां बताया कि मुख्यमंत्री ने डिजिटल माध्यम से विशेषज्ञ चिकित्सकों, इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) और नर्सिंग होम एसोसिएशन के साथ कोविड-19 की स्थिति के संबंध में संवाद किया।
 
उन्होंने कहा कि आईएमए और नर्सिंग होम एसोसिएशन के चिकित्सकों द्वारा मंडलायुक्तों, अपर निदेशक स्वास्थ्य तथा स्थानीय प्रशासन के साथ समन्वय करते हुए प्रत्येक जिले में कोविड और गैर कोविड रोगियों के लिए ‘टेलीकंसल्टेशन’ की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए।
 
योगी ने कहा कि कोविड के संबंध में भ्रांतियों को दूर करने और जागरूकता उत्पन्न करने में भी निजी क्षेत्र के चिकित्सक, आईएमए और नर्सिंग होम एसोसिएशन अपना सक्रिय योगदान दें। मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना के विरुद्ध संघर्ष में सफलता मिलने में सभी का सक्रिय सहयोग और योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि एक बार फिर इस आपदा के समय में हम सभी को धैर्यपूर्वक संक्रमण की चुनौती का सामना करना है।
 
उन्होंने कहा कि प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया में कोविड को परास्त करने वालों की सफलता की कहानियां प्रसारित-प्रचारित की जाएं जिससे जनता जागरूक भी होगी और उसके अन्दर का भय समाप्त होगा।
 
मुख्यमंत्री ने कहा कि सभी कोविड संक्रमित गम्भीर मरीजों की देखभाल के लिए बिस्तर उपलब्ध कराए जाएं। यदि सरकारी अस्पताल में बिस्तरों की व्यवस्था न हो पाए, तो निजी अस्पतालों में बिस्तरों की व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। अगर मरीज भुगतान करने में असमर्थ है, तो इसकी व्यवस्था राज्य सरकार करेगी।
 
योगी ने दावा किया कि प्रदेश में आवश्यकता के अनुसार ऑक्सीजन की आपूर्ति सुनिश्चित की जा रही है और ऑक्सीजन एक्सप्रेस के माध्यम से ऑक्सीजन टैंकर्स लाए जा रहे हैं तथा हवाई सेवा के माध्यम से भी ऑक्सीजन की आपूर्ति की जा रही है। उन्होंने कहा कि सात संस्थाओं के माध्यम से प्रत्येक अस्पताल में ऑक्सीजन ऑडिट की व्यवस्था की गई है।

webdunia


रिपोर्ट के मुताबिक राज्य में इस वक्त 3,06,401 मरीजों का उपचार किया जा रहा है। पिछले 24 घंटों के दौरान राज्य में 1,84,144 नमूनों की जांच की गई। प्रदेश में अब तक 4 करोड़ 1 लाख 41 हजार 354 नमूनों की जांच की जा चुकी है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

PM मोदी की चाची का कोरोना से इलाज के दौरान निधन