Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

UPSC ने Corona को देखते स्थगित किए सिविल सेवा परीक्षा के इंटरव्यू

webdunia
मंगलवार, 20 अप्रैल 2021 (00:32 IST)
नई दिल्ली। संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) ने कोरोनावायरस (Coronavirus) मामलों में वृद्धि के चलते सिविल सेवा परीक्षा 2020 के लिए साक्षात्कार स्थगित कर दिए हैं। यह जानकारी सोमवार को जारी एक आधिकारिक बयान से मिली।

यूपीएससी द्वारा सालाना 3 चरणों में सिविल सेवा परीक्षा आयोजित की जाती है, जिसमें प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा और साक्षात्कार शामिल है। इसके जरिए भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस), भारतीय विदेश सेवा (आईएफएस) और भारतीय पुलिस सेवा (आईपीएस) के अधिकारियों का चयन होता है।

बयान में कहा गया है कि साक्षात्कार और भर्ती परीक्षा की तारीख की समय-समय पर समीक्षा की जाएगी जब उम्मीदवारों और सलाहकारों को देश के सभी हिस्सों से यात्रा करने की आवश्यकता होती है। आयोग द्वारा जारी बयान में कहा गया है, यूपीएससी की वेबसाइट पर संशोधित कार्यक्रम अधिसूचित किए जाएंगे।

यूपीएससी ने सोमवार को अपनी विशेष बैठक में महामारी के कारण तेजी से बदलती परिस्थितियों, स्वास्थ्य संबंधी विचारों, सामाजिक दूरी बनाए रखने के नियमों, महामारी के चलते उत्पन्न स्थिति पर विचार किया। उसने कहा, आयोग ने फैसला किया है कि वर्तमान समय में परीक्षा और साक्षात्कार आयोजित करना संभव नहीं होगा।
ALSO READ: 100 दिन तक रह सकती है Coronavirus की दूसरी लहर
बयान में कहा गया है कि कर्मचारी भविष्य निधि संगठन (ईओ/एओ) भर्ती परीक्षा 2020 जो 9 मई को आयोजित होने वाली थी, उसे स्थगित किया जाता है। इसमें कहा गया है, भारतीय आर्थिक सेवा/ भारतीय सांख्यिकीय सेवा परीक्षा, 2020 के लिए व्यक्तित्व परीक्षा (साक्षात्कार) जो 20 से 23 अप्रैल, 2021 तक निर्धारित थे, सिविल सेवा परीक्षा, 2020 जो 26 अप्रैल-18 जून, 2021 को निर्धारित थी और भर्ती परीक्षाएं भी अगली सूचना तक स्थगित की जाती हैं।
ALSO READ: Coronavirus: एक डोज के बाद संक्रमण हो जाए तो क्‍या दूसरा डोज मिलेगा, क्‍या कहते हैं डॉक्‍टर
बयान में कहा गया है कि परीक्षा, भर्तियों और साक्षात्कार के संबंध में आयोग का कोई अन्य निर्णय तुरंत आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध कराया जाएगा। यूपीएससी ने कहा, स्थगित परीक्षाओं या साक्षात्कार के लिए जब भी तारीखें तय की जाएंगी तो यह सुनिश्चित किया जाएगा कि उम्मीदवारों को कम से कम 15 दिनों का नोटिस दिया जाए।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

MP में रेमडेसिविर की किल्लत और कालाबाजारी के बीच हाईकोर्ट सख्त, 1 घंटे में इंजेक्शन उपलब्ध कराने का आदेश