Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

ब्रिटेन जाने वाली 50 लाख कोविशील्ड की खुराकों से भारत में होगा Vaccination

webdunia
शुक्रवार, 7 मई 2021 (21:59 IST)
नई दिल्ली। 'कोविशील्ड' टीके की पचास लाख खुराक का इस्तेमाल अब भारत में कोरोनावायरस (Coronavirus) कोविड-19 मामलों में बढ़ोतरी के मद्देनजर देश के 21 राज्यों या केंद्र शासित प्रदेशों में 18-44 आयु वर्ग के टीकाकरण के लिए उपलब्ध कराने का निर्णय किया गया है। इन खुराकों को सीरम इंस्टीट्यूट द्वारा ब्रिटेन निर्यात किया जाना था। यह जानकारी आधिकारिक सूत्रों ने दी।

केंद्र सरकार का इन खुराकों को 21 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को आवंटित करने का यह फैसला ऐसे समय आया है जब पुणे स्थित सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया में डायरेक्टर (सरकार एवं नियामक मामलों) प्रकाश कुमार सिंह ने हाल में केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय को पत्र लिखकर इसके लिए अनुमति मांगी थी।
ALSO READ: ...तो नहीं आएगी Coronavirus की तीसरी लहर
सीरम इंस्टीट्यूट ने 23 मार्च को मंत्रालय से कोविशील्ड की 50 लाख खुराक की आपूर्ति ब्रिटेन को करने की अनुमति मांगी थी। सीरम इंस्टीट्यूट ने इस संबंध में एस्ट्राजेनेका के साथ एक समझौते का हवाला दिया था और भारत को भरोसा दिया था कि इस आपूर्ति से उसका कोरोनावायरस रोधी टीकाकरण कार्यक्रम प्रभावित नहीं होगा।
एक आधिकारिक सूत्र ने कहा, कोविशील्ड टीके का 50 लाख का भंडार अब 21 राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में 18-44 आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण के लिए उपलब्ध है। मंत्रालय ने राज्यों से कंपनी से संपर्क करने और खरीद गतिविधि को तुरंत शुरू करने के लिए कहा है।
ALSO READ: Coronavirus Vaccination :पहले डोज के कितने दिन बाद वैक्सीन लगवाएं, जानिए Experts से
आधिकारिक सूत्रों ने कहा कि कुछ राज्यों को 3,50,000 खुराकें आवंटित की गई हैं, अन्य को 1,00,000-1,00,000 खुराकें मिली हैं और दो अन्य को 50,000-50,000 खुराकें मिली हैं। इन टीकों पर कोविशील्ड नहीं, बल्कि ‘कोविड-19 वैक्सीन एस्ट्राजेनेका’ का लेबल लगाया गया है।

भारत में एक दिन में कोविड-19 के 4,14,188 नए मामले सामने आए हैं, जिससे देश में कोविड-19 के कुल मामले बढ़कर 2,14,91,598 पर पहुंच गए, जबकि 24 घंटे के भीतर 3,915 मरीजों की मौत होने से मृतक संख्या बढ़कर 2,34,083 हो गई।(भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

बंगाल में महिलाओं को मिल रही हैं दुष्कर्म की धमकियां : महिला आयोग