CM योगी की फटकार के बाद DM ने मांगी छुट्‍टी, गिरी गाज

अवनीश कुमार

सोमवार, 30 मार्च 2020 (20:39 IST)
लखनऊ। उत्तरप्रदेश में गौतमबुद्ध नगर में कोरोना वायरस (Corona Virus) के बढ़ते मरीजों की संख्या के मद्देनजर निरीक्षण व समीक्षा बैठक करने पहुंचे मुख्यमंत्री योगी की बैठक के बाद गौतमबुद्ध नगर के जिलाधिकारी ने पत्र लिखकर 3 महीने का अवकाश मांगा है। हालांकि उन्हें अवकाश मांगना भारी पड़ गया। 
 
डीएम ने पत्र में कहा कि वह व्यक्तिगत कारणों से गौतमबुद्ध नगर के डीएम के पद पर नहीं रहना चाहते। इसलिए उन्हें डीएम के दायित्वों से मुक्त करते हुए 3 महीने की छुट्टी स्वीकृत करने का कष्ट करें। उसके बाद पूरे जिले में हड़कंप मच गया है। वहीं, मीटिंग में नाराज मुख्यमंत्री की डांट के बाद डीएम के द्वारा ऐसा फैसला लिए जाने की भी चर्चा जोरों पर है। डीएम ने यह फैसला नाराजगी में लिया है।
 
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार बैठक में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के साथ गौतमबुद्धनगर डीएम बीएन सिंह और मुख्य चिकित्साधिकारी (सीएमओ) मौजूद थे। कोरोना वायरस को लेकर गौतमबुद्धनगर में बरती गई लापरवाही को देखकर मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने डीएम को जमकर फटकार लगाई और नाराज मुख्यमंत्री योगी ने कोरोना से बचाव की अधूरी तैयारियों पर कहा कि आपको दो महीने पहले ही अलर्ट किया गया था।
 
योगी ने कहा कि सब अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करने की बजाय एक-दूसरे पर जिम्मेदारी डालते रहे। यही कारण है कि नोएडा का मौहाल खराब हो गया और यहां पर सबसे ज्यादा लोग कोरोना से संक्रमित हो गए। मुख्यमंत्री अधिकारियों से अपनी नाराजगी व्यक्त कर ही रहे थे की डीएम ने जवाब देते हुए कहा कि कि मैं 18-18 घंटे रोजाना काम कर रहा हूं।
 
इतना सुनते ही मुख्यमंत्री का पारा चढ़ गया और डीएम को फटकार लगाते हुए कहा कि बकवास बंद करो। नाराज मुख्यमंत्री ने कहा कि यह मान के चलिए लापरवाही बहुत भारी पड़ेगी। बैठक के कुछ ही घंटे बाद डीएम ने पत्र के माध्यम से पद छोड़ने की बात कही है।
 
सुहास होंगे नए डीएम : इस बीच, मुख्‍य सचिव आरके तिवारी ने डीएम बृजेशसिंह का तबादला लखनऊ कर दिया है और उनके स्थान पर सुहास एलवाई को वहां का जिलाधीश नियुक्त किया है। इसके साथ ही बीएन सिंह के खिलाफ कमेटी बनाकर जांच बैठाई गई है। 
 
नोएडा में सर्वाधिक : दूसरी ओर, स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव अमित मोहन प्रसाद ने बताया कि प्रदेश के 8 प्रयोगशालाओं में कोरोना वायरस संक्रमण की जांच हो रही है और अभी तक संक्रमण के 88 मामलों की पुष्टि हुई है। सबसे ज्यादा 36 मामले गौतमबुद्धनगर में आए हैं। वहां एक फैक्ट्री के लोग संक्रमित हुए हैं और कुल 36 में से 31 मामले उसी फैक्टरी से संबंधित हैं।
 
 

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख Corona Virus Live Update : Corona से मौत का आंकड़ा 35000 के पार, इटली में 10000 से ज्यादा