कोहली और धोनी पर लोबो की भविष्यवाणी पूरी तरह सच साबित हुई

सोमवार, 15 जुलाई 2019 (20:05 IST)
जब इंग्लैंड में आईसीसी विश्व कप क्रिकेट टूर्नामेंट शुरू भी नहीं हुआ था यानी 30 मई से पहले ही मुंबई के प्रख्यात भविष्यकर्ता ग्रीनस्टोन लोबो ने जो भविष्यवाणी की थी जिसने करोड़ों भारतीय क्रिकेटप्रेमियों को निराश कर दिया था। लोबो ने साफ कहा था कि इस बार विराट कोहली और महेंद्र सिंह धोनी के कारण भारत वर्ल्डकप नहीं जीत पाएगा।
 
लोबो ने यह भविष्यवाणी विश्व कप में भाग लेने वाले सभी कप्तानों की कुंडली का अध्ययन करने के बाद की थी। उन्होंने कहा था कि जिन कप्तानों की जन्मकुंडली में यूरेनस, नेप्च्यून और प्लूटो मजबूत हैं, उन्हीं के पास विश्व कप जीतने के मजबूत अवसर हैं।
 
लोबो ने जो आकलन निकाला था, उसके अनुसार जिस कप्तान का जन्म 1985-87 के बीच हुआ है, वह विश्व कप जीतेगा, क्योंकि इस काल में जन्में लोगों का यूरेनस और नेप्च्यून सबसे मजबूत ग्रह हैं, जो उनके भाग्य को चमकाने में मददगार होता है। इंग्लैंड के कप्तान इयोन मोर्गन का जन्म 10 सितंबर 1986 को हुआ और अंतत: उनकी कप्तानी में इंग्लैंड पहली बार विश्व चैंपियन बना।
 
उन्होंने साफ कहा था कि विराट कोहली और धोनी की वजह से भारत विश्व कप चैंपियन नहीं बन पाएगा। ये वही लोबो हैं जिन्होंने 2011 में भारत और 2015 में ऑस्ट्रेलिया के चैंपियन बनने की सटीक भविष्यवाणी की थी। 2019 के विश्व कप के लिए उन्होंने कहा था कि चूंकि विराट का जन्म 5 नवंबर 1988 का है लिहाजा उनकी अगुवाई में खिताब जीतना मुश्किल है।
 
लोबो ने यह भी कहा था कि यदि महेंद्र सिंह धोनी टीम में नहीं रहते तो संभव था कि विराट की किस्मत चमक जाती। किस्मत ने हमेशा धोनी का साथ दिया है कि लेकिन फिलहाल उनका वक्त सही नहीं चल रहा है। हुआ भी ऐसा ही, धोनी सेमीफाइनल मैच में ऐन वक्त पर रनआउट हो गए और टीम इंडिया फाइनल से वंचित रह गई।
 
जब ये तमाम भविष्यवाणियां लोबो ने की थीं, तब कोहली के कोच राजकुमार को भी उन्होंने सब बता दिया था। उन्होंने तो यहां तक कहा था कि कोच रवि शास्त्री के ग्रह भी ठीक नहीं हैं और भारत विश्व कप जीतने वाला नहीं है। भारत और पाकिस्तान मैच के लिए भी लोबो ने भविष्यवाणी करते हुए कहा था कि भारत का विजयी सफर जारी रहेगा। भविष्यकर्ता ने जो भी प्रि‍डिक्शन (पूर्वानुमान) किया था, वो सच साबित हुआ।
 
उनका मानना था कि 1987 में जन्मे रोहित शर्मा विराट की जगह कप्तान होते तो भारत की किस्मत का सितारा चमक सकता था। विश्व कप 2019 में रोहित शर्मा ने सबसे ज्यादा 9 पारियों में 98.33 स्ट्राइक रेट से सबसे ज्यादा 649 रन बनाए जिसमें 5 शतक और 1 अर्द्धशतक शामिल है। रोहित का उच्चतम स्कोर 140 रन रहा। इस विश्व कप में उनके बल्ले से 67 चौके और 14 छक्के लगे।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख चेतेश्वर पुजारा बोले, मौका मिले तो 4 नंबर पर खेल सकता हूं