ऐसा क्या करें धनतेरस पर कि घर आए खुशहाली और मिले भय से मुक्ति

धनतेरस पर पीतल और चांदी के बर्तन खरीदने की परंपरा है। मान्यता है कि धन्वंतरि देव जब समुद्र मंथन से प्रकट हुए थे उस समय उनके हाथ में अमृत से भरा कलश था। इसी वजह से धन तेरस के दिन बर्तन खरीदने की परंपरा है।
 
मान्यता है कि बर्तन खरीदने से धन समृद्धि होती है। इसी आधार पर इसे धन त्रयोदशी या धनतेरस कहते हैं। इस दिन सोने-चांदी के आभूषण या वस्तुएं भी खरीदी जाती हैं।
 
इस दिन शाम के समय घर के मुख्य द्वार और आंगन में दीये जलाने चाहिए। क्योंकि धनतेरस से ही दीपावली के त्योहार की शुरुआत होती है।
 
धनतेरस के दिन शाम के समय यम देव के निमित्त दीपदान किया जाता है। मान्यता है कि ऐसा करने से मृत्यु के देवता यमराज के भय से मुक्ति मिलती है।

ALSO READ: Dhanteras 2019 Muhurat : धनतेरस 2019 के शुभ मुहूर्त, जानिए यहां

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख गोवत्स द्वादशी 2019 : जन्म-जन्मांतर के पापों से मुक्ति दिलाती है यह कथा