अगर आपको भी बनी रहती है थकान और सुस्ती, तो ये हो सकता क्रोनिक फेटीग सिंड्रोम

कई बार थकान और सुस्ती अधिक काम और तनाव के कारण हो सकती है, लेकिन अगर आपको लगातार ऐसा महसूस हो रहा है और इसके साथ आप सिर में दर्द भी महसूस कर रहे हैं तो यह क्रोनिक फेटीग सिंड्रोम के लक्षण हो सकते हैं। जी हां, 6 महीने से ज्यादा वक्त से अगर आप इस समस्या से पीड़ित हैं तो आप क्रोनिक फेटीग सिंड्रोम की चपेट में हो सकते हैं। जानिए इसके कारण और लक्षण - 
 
क्रोनिक फेटिक सिंड्रोम के कुछ विशेष कारण हो सकते हैं जैसे - 
 
1 प्रतिरोधक क्षमता में कमी - अगर आपका इम्यून सिस्टम कमजोर है, तो आपको यह समस्या तुरंत अपनी चपेट में ले सकती है।
 
2 हार्मोन्स का असंतुलन - शरीर की ग्रन्थियों द्वारा हार्मोन्स का निर्माण न होना या फिर हार्मोन्स का असंतुलन कई बार क्रोनिक फेटीग सिंड्रोम का कारण बनता है।
 
3 वायरल इंफेक्शन - वायरल इंफेक्शन फैलाने वाले बैक्टीरिया और वायरस क्रॉनिक फैटीग सिंड्रोम का कारण बन सकते हैं। यही कारण है कि कई बार वायरल इंफेक्शन के बाद आपको लंबे समय तक थकान होती है। 
 
 
लक्षण - 
1 थकान का बना रहना और थकान के कारण सिरदर्द की समस्या होना। 
2 मांसपेशियों में लगातार दर्द बना रहना।
3 कम शारीरिक मेहनत के बावजूद 24 घंटे से अधिक समय तक बीमार महसूस करना।
4 जोड़ों में दर्द होना
5 गला खराब होना
6 नींद न आना और सोने के बाद भी आलस लगना
7 याद न रहना।

वेबदुनिया पर पढ़ें

अगला लेख अब पीछे हटने का प्रश्न ही कहां है?