Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

Coronavirus vaccine: क्या वैक्सीन का डोज लेने वाले नहीं फैला सकते हैं COVID-19?

webdunia
कोरोना वायरस की दूसरी लहर काफी भयानक रही है। हालांकि अब संक्रमण दर में गिरावट जारी है। लेकिन मौत का आंकड़ा कम नहीं हो रहा है। इस बीमारी से बचाव का एक ही सुरक्षा कवच है वैक्सीनेशन। लेकिन वैक्सीन लगाने के बाद लोगों के मन में सवाल है क्या अब कोविड नहीं होगा? कई लोग वैक्सीनेशन के बाद बेफिक्र हो कर घूम रहे हैं। लेकिन ऐसा नहीं है वैक्सीनेशन के बाद भी लोग कोरोना संक्रमित हो रहे हैं। एक और सवाल मन में उठ रहा है क्या वैक्सीन का डोज लेने के बाद उन्हें नॉन कोविड पर्सन से कोरोना नहीं होगा? या वैक्सीनेटेड लोग कोरोना नहीं फैलाएंगे?
 
आइए जानते हैं इस पर एक्सपर्ट्स और वैज्ञानिकों की राय-
 
वेबदुनिया को चेस्ट फिजिशियन डॉ. रवि डोसी ने बताया कि, ‘कोविड के अंदर वैक्सीनेशन की जो रोग प्रतिरोधक क्षमता होती है। वह एक-दूसरे से संक्रामकता को किसी भी तरह से इफेक्ट नहीं करती है। यह एक इंडिविजुअल प्रॉपर्टी होती है। जो लोग कोविड वैक्सीनेटेड है लेकिन उन्हें कोविड संक्रमण होता है और माइल्ड (कम) होता है या वह होगा ही नहीं। मीडियम या सिवियर (गंभीर) होगा तो तीव्रता कम होगी'।
 
हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ. भरत रावत ने बताया कि, ‘वैक्सीन लगाने के बाद इंफेक्शन का रिस्क कम होता लेकिन खत्म नहीं होता है। हल्के लक्षण से बीमारी होने का डर रहता है लेकिन गंभीर स्तर पर नहीं होती है। इनफेक्टिविटी (संक्रमण का प्रभाव) कम हो जाती है लेकिन पूरी तरह से खत्म नहीं होती है। इसलिए यह नहीं कहा जा सकता है कि वैक्सीनेशन के बाद कोरोना नहीं फैलेगा"।
 
क्या कहते हैं वैज्ञानिक
 
इम्यूनोलॉजी एक्सपर्ट्स के मुताबिक संक्रमण के खिलाफ वैक्सीन वायरस के फैलने की दर को भी कम करेंगी। हालांकि अभी यह कहना जल्दबाजी होगी कि कोविड वैक्सीनेटेड लोग वायरस को नहीं फैला रहे हैं या उनसे नहीं फैलेगा।
 
हालांकि अमेरिका में एक्सपर्ट्स का मानना है कि वैक्सीनेशन के बाद मास्क जरूरी नहीं है। जिन्होंने वैक्सीन नहीं लगवाई है उन्हें वैक्सीनेटेड लोगों से रिस्क कम है लेकिन पूरी तरह से खत्म नहीं है। लेकिन सभी ने वैक्सीन लगा रखी है तो जोखिम कम है लेकिन पूरी तरह से दावा नहीं कर सकते हैं कि वैक्सीनेटेड लोगों से कोरोना फैलता या नहीं। क्योंकि कोविड-19 के दौर में बिना लक्षण वाले मरीज भी बीमारी फैला सकते हैं। ऐसे में बिना लक्षण वालों के संपर्क में आए लोगों के बारे पता लगाना एक चुनौती है।
 
अमेरिका में मास्क से राहत!
 
जी हां, अमेरिका सेंटर फॉर डिजीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन द्वारा 13 मई 2021 को मास्क पहनने को लेकर नई गाइडलाइन जारी की थी। जिन्हें वैक्सीन के पूरे डोज (फाइजर -बायोटेक और मॉडर्न) लग चुके हैं वह बिना मास्क के बाहर निकल सकते हैं। वह किसी भी तरह की गतिविधियों में भाग भी ले सकते हैं।
 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Expert Advice - क्या ब्लैक फंगस कोरोना संक्रमण के बिना भी हो सकता है