Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

हरियाणा में किसानों पर लाठीचार्ज, खट्‍टर बोले- पुलिस पर पथराव करेंगे तो कार्रवाई तो होगी

webdunia
शनिवार, 28 अगस्त 2021 (19:15 IST)
चंडीगढ़। हरियाणा में शनिवार को किसानों पर हुए लाठीचार्ज के मामले में मुख्‍यमंत्री मनोहर लाल खट्‍टर ने कहा कि सरकारी कामकाज में बाधा डालना लोकतंत्र के खिलाफ है। अगर किसान विरोध करना चाहते हैं तो उन्हें यह शांतिपूर्ण तरीके से करना चाहिए।

खट्‍टर ने कहा कि यदि वे राजमार्ग जाम करते हैं और पुलिस पर पथराव करते हैं, तो पुलिस भी कानून-व्यवस्था बनाए रखने के लिए कदम उठाएगी। हालांकि उन्होंने कहा कि इस मामले में उचित कार्रवाई की जाएगी।

पंचकुला शिमला हाईवे जाम : दूसरी ओर, करनाल में लाठीचार्ज के विरोध में किसानों ने पंचकुला में चंडी मंदिर टोल प्लाजा के पास पंचकुला-शिमला हाईवे को जाम कर दिया। उल्लेखनीय है कि भाजपा की बैठक के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए करनाल की तरफ बढ़ रहे किसानों के एक समूह पर पुलिस ने शनिवार को लाठीचार्ज किया, जिसमें करीब 10 लोग घायल हो गए।
ALSO READ: खुशखबरी! ट्रेन के इकोनॉमी AC क्लास में सफर कर सकेंगे यात्री
किसानों के खिलाफ कार्रवाई के लिए राज्य पुलिस की आलोचना की गई और विरोध में कई स्थानों पर सड़कों को जाम किया गया। प्रभावित सड़कों में फतेहाबाद-चंडीगढ़, गोहाना-पानीपत और जींद-पटियाला राजमार्ग, अंबाला-चंडीगढ़ और हिसार-चंडीगढ़ राष्ट्रीय राजमार्ग शामिल हैं।
ALSO READ: Corona को लेकर नीति आयोग ने किया सतर्क, कहा- घरों में ही मनाएं त्योहार...
हरियाणा भारतीय किसान यूनियन (चढूनी) के प्रमुख गुरनाम सिंह चढ़ूनी ने आरोप लगाया कि पुलिस ने बर्बरतापूर्वक प्रदर्शनकारी किसानों पर लाठीचार्ज किया, जिसमें कई लोग घायल हो गए। करनाल से करीब 15 किलोमीटर की दूरी पर बस्तारा टोल प्लाजा के पास मौजूद कई प्रदर्शनकारियों ने दावा किया कि पुलिस की कार्रवाई में 8 से 10 लोग घायल हुए हैं।

बहरहाल, पुलिस ने कहा कि हल्का बल प्रयोग किया गया, क्योंकि प्रदर्शनकारी राजमार्ग जाम कर रहे थे, जिससे यातायात प्रभावित हो रहा था। केंद्र के कृषि कानूनों का विरोध कर रहे किसान हरियाणा में भाजपा-जजपा गठबंधन के कई सार्वजनिक कार्यक्रमों का विरोध कर रहे हैं। 

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

Corona के स्वरूपों का विकसित होना टीकाकरण से बचने का कारण नहीं...