Webdunia - Bharat's app for daily news and videos

Install App

Select Your Language

Notifications

webdunia
webdunia
webdunia
webdunia
Advertiesment

FIFA 2018 : रूस के 'अविश्वसनीय' प्रदर्शन पर जश्न में डूबा देश

हमें फॉलो करें webdunia
सोमवार, 2 जुलाई 2018 (20:21 IST)
मॉस्को। रूस के प्रशंसकों ने फुटबॉल विश्व कप में टीम के क्वार्टर फाइनल में पहुंचने का जश्न सड़कों पर नृत्य करने के साथ अजनबियों को चूमकर मनाया। बाल्टिक क्षेत्र में स्थित कैलिनिनग्राद में लोग सड़कों पर नाच-गाकर अंतिम-16 मुकाबले में टीम की स्पेन पर जीत का जश्न मना रहे थे, तो वहीं देश के सूदूर पूर्वी क्षेत्र में स्थित व्लादिवोस्तोक में टीम के प्रशंसक अजनबियों को चूमकर खुशी का इजहार करते देखे गए।
 
 
काले सागर के पास सोची में हजारों प्रशंसक अपने कंधे पर रूस के झंडे को लपेटकर बड़ी स्क्रीन पर मैच का लुत्फ उठाते रहे थे और मध्य मॉस्को में लोगों पर जीत की खुमारी इस तरह छाई थी कि वे शाम से सुबह तक कारों के होर्न बजाते रहे। प्रशंसकों को यह यकीन नहीं हो रहा था कि रैंकिंग में सबसे निचले 70वें स्थान पर काबिज रूस की टीम ने 2010 की चैंपियन स्पेन को पेनल्टी शूटआउट में हरा दिया।
webdunia
मुस्कोविटे अन्ना गलजकोवा ने कहा कि यह शानदार क्षण है, अविश्वसनीय। हम चैंपियन हैं। हमें लगता है कि फाइनल में हमारा सामना ब्राजील से होगा। मैच के लगभग 25 प्रतिशत समय में गेंद पर नियंत्रण रखने वाली रूस को पेनल्टी शूटआउट में जीत दिलाने वाले गोलकीपर और कप्तान इगोर एकिनफीव राष्ट्रीय नायक बन गए हैं। एकिनफीव ने कहा कि इसमें छुपाने वाली कोई बात नहीं है, हम पेनल्टी से नतीजे की उम्मीद कर रहे थे।
 
रूस में आइस हॉकी का खेल बेहद ही लोकप्रिय है। विश्व कप के मैचों से पहले प्रशंसक फुटबॉल खिलाड़ियों को हॉकी के गोल की याद दिलाकर चुटकी लेते थे। लेकिन रविवार को मॉस्को के लुजनिकी स्टेडियम में 80,000 दर्शक खिलाड़ियों का हौसला बढ़ा रहे थे, ऐसा ही नजारा बार और मेट्रो स्टेशनों पर भी था। यहां से 6,000 किलोमीटर दूर भी लोगों पर इस जीत की खुमारी छाई दिखी।
webdunia
रूस के अंतरिक्ष यात्री ओलेग अर्तेम्येव ने अंतरराष्ट्रीय अंतरिक्ष स्टेशन में लैपटॉप पर मैच का लाइव स्ट्रीमिंग देखने के बाद ट्वीट किया कि हूर्रे! सोवियत युग के बाद यह पहली बार है, जब रूस ने विश्व कप के क्वार्टर फाइनल में जगह बनाई है। (भाषा)

Share this Story:

Follow Webdunia Hindi

अगला लेख

एशियाई खेलों में भाग लेने से रोकने के मुद्दे पर आधिकारिक पत्र नहीं मिला